PreviousNextPreviousNext

आसमान से गिरे खजूर पर अटके

Publish Date:Thursday,Aug 02,2012 05:04:40 PM | Updated Date:Thursday,Aug 02,2012 05:05:18 PM

मधुबन (मऊ) : बरसात शुरु होते ही जगह-जगह जलजमाव से तालाब बनी मधुबन बाजार की सड़कों में बने गड्ढों को भरने का काम पिछले तीन चार दिनों से चल रहा है। लोक निर्माण विभाग द्वारा इन गड्ढों को पाटने का मकसद यात्रियों को होने वाली परेशानी से निजात दिलाना है लेकिन ऐसा लगता है कि विभाग की यह मंशा पूरी नहीं होने वाली। गड्ढों को पाटने से लोगों को राहत क्या मिलती कि उनकी परेशानी और बढ़ गई है। कारण इन गड्ढों को भरने के लिये ईट की टुकड़ी का प्रयोग किया जा रहा है और वह भी टुकड़ी को तरतीब से बिछाया नहीं जा रहा है बल्कि सच कहें तो गड्ढों में फेंका जा रहा है। इसके परिणामस्वरूप इस मार्ग से गुजरने वाले यात्रियों खास कर साइकिल व दो पहिया वाहन चालकों के लिए गड्ढे खतरनाक बनते जा रहे हैं। बेतरतीब ईट के टुकड़े और कई जगहों पर ईट के उभरे नुकीले भाग लोगों के लिए घातक सिद्ध हो रहे हैं। रोज ही यात्री असंतुलित होकर गिरकर चोटिल हो रहे हैं। मजे की बात यह है कि जब सड़क पर केवल गड्ढे थे उस वक्त जितने हादसे होते थे, गड्ढों के भर जाने के बाद उसमें एकाएक वृद्धि हो गई है। रोज ही दर्जनों लोग गिरकर घायल हो रहे हैं। स्थानीय लोगों का मानना है कि यह तो वही बात हुई आसमान से गिरे और खजूर में अटके। यानी परेशानी से निजात दिलाने की कोशिश ने कई परेशानियों को और बढ़ा दिया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsstate Desk)

शक्ति परीक्षण में बड़रांव प्रमुख पराजितविधायक जी, जरा क्षेत्र की सड़कों पर ध्यान दीजिए

प्रतिक्रिया दें

English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें



Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

    यह भी देखें

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      आसमान से गिरा खजूर में अटका
      खजूर पर अटके मैनेजमेंट कोटे के बीएड प्रशिक्षु
      इस बार देशी खजूर की आमद कम