PreviousNext

प्रदेश में भी खत्म हुआ लाल-नीली बत्ती का जमाना

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 08:22 AM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 08:22 AM (IST)
प्रदेश में भी खत्म हुआ लाल-नीली बत्ती का जमानाप्रदेश में भी खत्म हुआ लाल-नीली बत्ती का जमाना
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया तो मंत्री भी उनकी राह पर चल पड़े।

लखनऊ (राज्य ब्यूरो)। केंद्र की मोदी सरकार ने वीआइपी कल्चर खत्म करने के लिए राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री, सुप्रीमकोर्ट के न्यायाधीश, उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश, राज्यों के मुख्यमंत्री व मंत्रियों की गाड़ी से लालबत्ती उतारने का फैसला किया तो उत्तर प्रदेश में भी गुरुवार की देर रात लाल-नीली बत्ती प्रतिबंधित कर दी गई।

तत्काल प्रभाव से यह फैसला प्रभावी हो जाएगा। वैसे गुरुवार की सुबह से ही मंत्रियों में अपनी गाड़ी से लालबत्ती उतारने की होड़ लग गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र सरकार के इस फैसले का स्वागत किया तो मंत्री भी उनकी राह पर चल पड़े।

वीआइपी कल्चर खत्म करने के केन्द्र के फैसले के 24 घंटे के भीतर उत्तर प्रदेश में उसका व्यापक असर देखने को मिला। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में मंत्रियों ने गुरुवार देर रात शास्त्री भवन में यह फैसला किया। सिर्फ एंबुलेंस, सेना, फायर बिग्रेड और पुलिस के वाहनों पर ही बत्ती का प्रयोग हो सकेगा।

यह भी पढ़ें: आठ गुना बढ़ा इटावा में मुलायम की कोठी का बिजली लोड

शुक्रवार से लाल एवं नीली बत्ती के प्रयोग को समाप्त करने की अपेक्षा की गई है। सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक वीआइपी सुरक्षा में लगे अतिरिक्त बलों को भी कम किए जाने का फैसला हुआ है।

यह भी पढ़ें: योगी आदित्यनाथ का ऐलान, बुंदेलखंड को सिक्स लेन एक्सप्रेसवे से जोड़ेंगे

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Days of red and blue beacon lights over in uttar pradesh(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

परीक्षा केंद्र में असलाहधारियों समेत कॉलेज में घुसे भाजपा विधायकसीएम योगी ने दिए यश भारती अवॉर्ड के जांच के न‍िर्देश
यह भी देखें