PreviousNext

जनसुविधाओं की सौगात, जनता को राहत

Publish Date:Tue, 09 Oct 2012 07:13 PM (IST) | Updated Date:Tue, 09 Oct 2012 07:14 PM (IST)

वरिष्ठ संवाददाता,गाजियाबाद :

मंगलवार को महानगर की जनता के लिए सुविधाओं की सौगात लेकर आया। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) की एक साथ आठ जनसुविधाओं का लोकार्पण सपा के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद प्रो. राम गोपाल यादव ने किया। इससे सबसे बड़ी राहत राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) 24 पर लगने वाले जाम से मिलेगी। दो स्थानों पर टी जंक्शन दुर्घटना को रोकेंगे तो वैशाली सेक्टर चार मेट्रो स्टेशन के पास बना एफओबी लोगों को व्यस्ततम सड़क पार करने में मददगार साबित होगा।

-काला पत्थर अंडरपास

इसका निर्माण क्रासिंग प्रोपर्टी एण्ड इंफ्रास्ट्रक्चर ने कराया है। इस पर कुल खर्च 63 लाख रुपये आया है।

लाभ : इसके बनने से राजमार्ग-24 से वाहनों का दबाव कम हो जाएगा। इंदिरापुरम से नोएडा जाने वाले और नोएडा से इंदिरापुरम आने वाले वाहनों को आसानी होगी। लोगों को जाम में फंसने से राहत मिलेगी।

सीआइएसएफ अंडरपास-

इसका निर्माण भी क्रासिंग इंफ्रास्ट्रक्चर ने कराया है। इस पर कुल 95 लाख रुपये का खर्च आया है।

लाभ : इंदिरापुरम से नोएडा जाने के लिए एनएच 24 पर दांये या बांये ओर जाकर नोएडा में प्रवेश मिलता था। एनएच पर लगने वाला जाम जहां इससे कम होगा। इंदिरापुरम क्षेत्र से सीआइएसएफ के बराबर से आसानी से नोएडा सेक्टर 63 पहुंच सकेंगे। यह मार्ग एक तरफा है। नोएडा की ओर से वाहनों का प्रवेश निषेध है।

एबीईएस अंडरपास

एबीईएस इंजीनियरिंग कालेज के पास बने अंडरपास की लागत 50 लाख रुपये है। इसका निर्माण अंसल प्रोपर्टीज इंफ्रास्ट्रक्चर ने कराया है।

लाभ : लालकुआं से नोएडा एक्सटेंशन की ओर जाने वाले वाहन सर्विस लेन से नीचे उतरकर अंडरपास से ग्रेटर नोएडा की ओर निकल जाएंगे। इससे राजमार्ग पर अनावश्यक जाम नहीं लगेगा। 45 मीटर चौड़े इस मार्ग से आसानी से नोएडा या क्रासिंग की तरफ जाया जा सकता है।

विवेकानंदनगर टी जंक्शन

इसका निर्माण उप्पल चड्ढा हाईटेक डेवलपर्स ने किया है। इसके निर्माण में 60 लाख रुपये खर्च हुए है।

लाभ : इसके बनने से विवेकानंद नगर फ्लाईओवर से उतरकर वाहन सीधे राजमार्ग 24 पर पहुंचे जाएंगे। टी जंक्टशन से हापुड़ और दिल्ली जाने वाहन सीधे राजमार्ग पर चढ़ जाएंगे। उन्हें घूमना नहीं पड़ेगा। यहां पर हापुड़ की तरफ जाने के लिए अतिरिक्त लेन का निर्माण किया गया है। इससे जाम से भी राहत मिलेगी।

डायमंड टी जंक्शन

इसका निर्माण उप्पल चड्डा हाईटेक डेवपलर्स ने एक करोड़ रुपये की लागत से किया है।

लाभ : इसके बनने से हापुड़ जाने वाले वाहन चार सौ मीटर लेन की अतिरिक्त सड़क से सीधे निकल जाएंगे। इससे उन्हें रुकना नहीं पड़ेगा। साथ ही हापुड़ से दिल्ली की तरफ जाने वाले वाहनों के लिए एक अतिरिक्त लेन का निर्माण किया गया है।

बम्हैटा अंडरपास

इसका निर्माण अग्रवाल एसोसिएट्स ने 15 लाख की लागत से कराया है।

लाभ: इससे बम्हैटा गांव जाने वाले ग्रामीणों को राजमार्ग 24 पर नहीं चढ़ना पड़ेगा। इसके साथ ही बुलंदशहर रोड औद्योगिक क्षेत्र से दिल्ली जाने वाले वाहन अंडरपास से सीधे एनएच 58 पर जा सकेंगे।

वैशाली एफओबी

वैशाली सेक्टर-चार में मेट्रो स्टेशन के पास फुटओवर ब्रिज का निर्माण जीडीए ने ढाई करोड़ की लागत से कराया है।

लाभ : इस एफओबी के बनने से अतिव्यस्त लिंक रोड (एनएच 58) को पार करने में आसानी होगी, जबकि मेट्रो स्टेशन के बाहर लगने वाले जाम से भी राहत मिलेगी।

राजनगर हरित पट्ट्टी

राजनगर सेक्टर सात में सेंट्रल पार्क के साथ हरित पट्ट्टी का निर्माण तीस लाख की लागत से किया गया है। यहां से जीडीए ने सिंचाई विभाग के गोदाम व नर्सरी को हटाया है तथा सेंट्रल पार्क का रूप दिया है। साथ ही पार्क 22 एकड़ में हो जाएगा।

लाभ : इसके बनने से पाश कालोनी में लोगों को स्वस्थ वातावरण के साथ पर्यावरण अच्छा मिलेगा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    बिजली के मुख्य दफ्तर पर किसानों का कब्जा, ताला जड़ासीसीटीवी की जद में आया गाजियाबाद स्टेशन परिसर
    यह भी देखें