PreviousNext

..और मासूम को गोद में लेकर दौड़ने लगी पुलिस

Publish Date:Sun, 17 Sep 2017 11:18 PM (IST) | Updated Date:Sun, 17 Sep 2017 11:18 PM (IST)
..और मासूम को गोद में लेकर दौड़ने लगी पुलिस..और मासूम को गोद में लेकर दौड़ने लगी पुलिस
देवरिया : जिला अस्पताल के फर्श पर लेटी एक मासूम इलाज के अभाव में तड़प रही थी, अचानक पुलिसक

देवरिया : जिला अस्पताल के फर्श पर लेटी एक मासूम इलाज के अभाव में तड़प रही थी, अचानक पुलिसकर्मियों की नजर मासूम पर पड़ी तो पुलिसकर्मी ने उसकी तरफ अपना हाथ बढ़ा दिया और गोद में लेकर इमरजेंसी की तरफ दौड़ने लगा। यह देख शहर कोतवाल से लेकर अन्य लोग भी दौड़ने लगे। पुलिसकर्मियों ने उस मासूम को चिकित्सक को दिखाया तो हालत गंभीर देख उसे मेडिकल कालेज गोरखपुर रेफर कर दिया। मासूम के गरीब परिजनों को कोतवाल ने आर्थिक सहायता देने के साथ ही अन्य सुविधाएं देते हुए मेडिकल कालेज भिजवाया। उधर चिकित्सक का कहना है कि अगर इलाज में विलंब होता तो शायद मासूम को बचाना संभव नहीं होता।

पुलिस अधीक्षक राजीव मल्होत्रा ने जनपद में कम्युनिटी पुलि¨सग शुरू की है। इसके तहत हर पुलिसकर्मी को लोगों के पास जाना है और उनकी समस्याओं को सुनने के साथ ही मदद करनी है। रविवार को कम्युनिटी पुलि¨सग टीम जिला अस्पताल पहुंची, टीम जिला अस्पताल में मरीजों से मुलाकात की और कोई भी दिक्कत होने पर सीधे बात करने की सलाह दे रही थी। इसी बीच पुलिसकर्मियों की नजर फर्श पर पड़ी एक मासूम पर पड़ी, उसका पेट फूल गया था और वह दर्द से कराह रही थी, उसके बगल में एक बूढ़ी महिला भी उसके दर्द को देख रो रही थी। यह देख पुलिसकर्मी आगे बढ़ गए और बूढ़ी महिला से बातचीत की तो महिला ने बताया कि वह अपने पुत्र का इंतजार कर ही है। यह उसकी पोती है और अभी तक इलाज नहीं हुआ है तथा पेट फूलता जा रहा है। यह सुन एक पुलिसकर्मी उसे गोद में उठाया और इमरजेंसी की तरफ लेकर दौड़ने लगा। इमरजेंसी में चिकित्सक से दिखाया तो चिकित्सक ने प्राथमिक उपचार किया और मासूम की हालत ज्यादा गंभीर होने की बात कही। साथ ही मासूम को मेडिकल कालेज गोरखपुर रेफर कर दी। मासूम बबिया पुत्री गुलाब बैदा की निवासी है। कोतवाल नीतीश ने एंबुलेंस को फोन मिलाया, लेकिन पंद्रह मिनट तक एंबुलेंस नहीं पहुंची तो फिर कंट्रोल रूम में फोन कर फटकार लगाई। इसके तत्काल बाद एंबुलेंस उपलब्ध हो गई। इतना नहीं, मेडिकल कालेज चौकी इंचार्ज को भी कोतवाल ने फोन कर उसका उपचार करा देने में मदद करने की बात कही। इस दौरान कोतवाली पुलिस ने अस्पताल परिसर से अतिक्रमण भी हटाया। इस दौरान चौकी इंचार्ज सिविल एमपी ¨सह, अवधेश कुमार, विजय श्रीवास्तव, मनोज ¨सह, उमाचरण, मनोज यादव मौजूद रहे।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:crime(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

पोलियो खात्मे को सबकी सहभागिता जरूरी: डीएमपतंजलि योग समिति ने बांटी राहत सामग्री
यह भी देखें