श्रीमद्भागवत बनाती है मनुष्य को निर्भय : भारद्वाज

Publish Date:Mon, 19 Aug 2013 01:34 AM (IST) | Updated Date:Mon, 19 Aug 2013 01:35 AM (IST)

जासंकें, कुरुक्षेत्र : कथावाचक पवन भारद्वाज ने ने कहा कि श्रीमद्भागवत हमें निर्भय बनाती है। यह अमर कथा है। वैष्णव लोग भगवान की भक्ति करते है। भक्ति के नौ अंग है, जिसे नवधा भक्ति कहते है। जो भगवान की वंदना करते है, भगवान भी उनका ध्यान रखते है। पवन भारद्वाज सेक्टर-13 स्थित सीनियर सिटीजन फोरम के भवन में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा एवं शिव महापुराण कथा में प्रवचन कर रहे थे। उन्होंने सच्चा भक्त भगवान से केवल उनके दर्शन की ही अभिलाषा रखता है। याद रखो, भगवान से जैसा भी संबंध स्थापित करोगे भगवान उसे पूर्ण करते है। उन्होंने वामन अवतार, राजा बलि से तीन पग भूमि मागना, वामन को तीन पग भूमि का दान देने का संकल्प लेने, विष्णु को अपना द्वारपाल बनाने की वर लेने, लक्ष्मी की बलि को भाई बनाकर विष्णु को मुक्त कराने, भगवान शिव विवाह आदि प्रसंग सुनाए। इस अवसर पर वामन भगवान की आकर्षक झाकी दिखाई गई। कथा के मंच पर आयोजक एसपी कौड़ा, भागशाह, चौधरी बलबीर सिंह, संतलाल बाटला, ओपी गुलयानी, सतपाल सेठी व एसके साही ने सर्वदेव पूजन करके भारद्वाज को तिलक लगाया। कथा की आरती में सुभाष गोयल, वेदप्रकाश शर्मा कुरड़ी, आनंद प्रकाश सैनी, डॉ. एचसी गोयल, एसएल तिवारी, द्वारिकानाथ महाजन, लालाराम सिंगला, सुभाष शास्त्री आदि ने भाग लिया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

 

अपनी भाषा चुनें
English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें

Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

 

    वीडियो

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      श्रीमद्भागवत बनाती व्यक्ति को निर्भय : भारद्वाज
      कथाएं बनाती हैं मनुष्य को निर्भीक : शुकदेवाचार्य
      सच्चा और अच्छा इसान बनाती श्रीमद्भागवत कथा : मृदुलकात