PreviousNext

बुलेट ट्रेन का हुआ शिलान्‍यास, मोदी बोले- देश को मिलेगी नई रफ्तार

Publish Date:Thu, 14 Sep 2017 06:32 AM (IST) | Updated Date:Thu, 14 Sep 2017 12:34 PM (IST)
बुलेट ट्रेन का हुआ शिलान्‍यास, मोदी बोले- देश को मिलेगी नई रफ्तारबुलेट ट्रेन का हुआ शिलान्‍यास, मोदी बोले- देश को मिलेगी नई रफ्तार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी अहमदाबाद में बुलेट ट्रेन परियोजना का शिलान्यास किया।

अहमदाबाद, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत यात्रा पर आए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी ने बुलेट ट्रेन का शिलान्‍यास किया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर जापान के प्रधानमंत्री का गुजरात की भूमि पर स्‍वागत करते हुए कहा कि शिंजो एबी हमारे सबसे घनिष्‍ठ मित्र हैं। उन्‍होंने कहा कि आज भारत ने अपने वर्षों पुराने सपनों को पूरा करने के लिए एक कदम उठाया है। बुलेट ट्रेन परियोजना ऐसा प्रोजेक्‍ट है जिसमें तेज गति भी है तेज प्रगति भी। सुविधा भी है और सुरक्षित भी। यह प्रोजेक्‍ट रोजगार भी लाएगा और व्‍यापार भी लाएगा। आज का दिन भारत और जापान के लिए ऐतिहासिक और भावनात्‍मक है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारा मकसद है इस तकनीक को भरपूर प्रयोग करते हुए इसे देश के गरीबों के जीवन से जुड़ जाए। इस प्रॉजेक्ट से रेलवे को फायदा होगा, रेलवे के नेटवर्क को नएपन की ओर जाना होगा। इस प्रॉजेक्ट से मेक इन इंडिया को भी मजबूती मिलेगी। यातायात के हर क्षेत्र में हमने एक समान इंफ्रास्ट्रकचर पर जोर दिया है। जीएसटी से यातायात को भी फायदा मिला है।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत और जापान की दोस्ती सीमा और समय से परे है। अगर आज इतने कम समय में इस योजना का भूमिपूजन हो रहा है तो इसका पूरा श्रेय शिंजो आबे को जाता है। मानम सभ्यता का इतिहास यातायात से जुड़ा हुआ है। किसी भी देश के विकास में यातायात एक महत्वपूर्ण योगदान देती है। जो लोग अमेरिका के इतिहास को जानते हैं उन्हें पता है कि रेलवे जाने के बाद कैसे वहां आर्थिक प्रगति शुरू हुई। आज यूरोप से लेकर चीन तक हाई स्पीड रेल न सिर्फ आर्थिक, बल्कि सामाजिक परिवर्तन में एक अहम भूमिका निभा रही है। जापान में भी बुलेट ट्रेन ने अर्थव्‍यवस्‍था को बदल कर रख दिया।

वहीं जापान के प्रधानमंत्री ने इस मौके पर अपने भाषण की शुरुआत नमस्‍कार से की। उन्‍होंने कहा कि भारत के नए अध्‍याय की शुरुआत से खुशी हो रही है। भारत अगर ताकतवर होता है, तो यह जापान के हित में है। हम प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों का पूरा समर्थन करते हैं।

बुलेट ट्रेन की तकनीक जापान की है लेकिन संसाधन भारत से ही जुटाए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद रेलवे का भार घटेगा और उसका समय भी बचेगा। मन में एक सपना है कि जब आजादी के 75 साल पूरे हो यह योजना भी पूरी हो जाए। मुझे भरोसा है कि इस प्रॉजेक्ट को समय से पूरा कर लिया जाएगा। मैं गुजरात और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का भी आभार प्रकट करता हूं।

शिंजो आबे ने कहा, 'जापान का 'ज' और इंडिया का 'इ' अगर मिला दें तो यह 'जय' बन जाता है। जापान और भारत एशिया के दो बड़े लोकतंत्र हैं। हिंद और प्रशांत महासागर के सभी देश स्वतंत्र और खुले विचार रखते हैं। मैं चाहता हूं कि जब अगली बार आऊं तो बुलेट ट्रेन में प्रधानमंत्री मोदी के साथ आऊं। मुझे गुजरात बहुत पसंद हैं।'

पीएम मोदी की तारीफ करते हुए एबी ने कहा कि मेरे मित्र पीएम मोदी एक दूरदर्शी नेता है। मैंने प्रधानमंत्री मोदी के बुलेट ट्रेन के सपने को पूरा करने की प्रतिज्ञा ली है। जापान और भारत के इंजिनियर दिन-रात इस प्रॉजेक्ट को पूरा करने में लगे हैं। अगर वे ठान लें तो कुछ नामुमकिन नहीं। शक्तिशाली भारत जापान के हित में है। जापानी की बुलेट ट्रेने जबसे शुरू हुई है कभी कोई बड़ी दुर्घटना नहीं हुई। यह सबसे सुरक्षित रेल सेवा है।

शिलान्‍यास से पहले रेल मंत्री ने पीयूष गोयल ने बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट में जापान की मदद के लिए पीएम शिंजो एबी का धन्‍यवाद किया। उन्‍होंने कहा कि बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट भारत में बहुत बड़ा परिवर्तन लेकर आएगा। यह प्रोजेक्‍ट भारत के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। मेक इन इंडिया को भी इस प्रोजेक्‍ट से गति मिलेगी। बुलेट ट्रेन जापान और भारतीयों के बीच भाइचारे का प्रतीक है। यह परियोजना एक लाख, आठ हजार करोड़ की है। जापानी पीएम की इस यात्रा से गुजरात को काफी लाभ होगा। अलंग शिपयार्ड को 600 करोड़, गुजरात में आधारभूत ढांचे के लिए एक हजार करोड़ आदि की भी मदद जापान करेगा।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो एबी ने बुलेट ट्रेन प्रोजेक्‍ट के मॉडल को देखा। एबी को बताया गया कि ट्रेन का रूट क्‍या होगा और कहां-कहां से होकर ट्रेन गुजरेगी।

बुलेट ट्रेन रूट

पूरे रूट में शहरी औद्योगिक विकास को मिलेगी गति
बुलेट ट्रेन साबरमती से मुंबई तक पहुंचेगी और इसके लिए दोहरी लाइन होंगी। इसका लगभग 156 किमी महाराष्ट्र और 351 किमी गुजरात में होगा। बुलेट ट्रेन का पहला स्‍टेशन साबरमती है, जिसके बाद यह अहमदाबाद, आणंद/ नादिया, वडोदरा, भरच, सूरत, बिलीमोरा, वापी, वोइसर, विरार और ठाणे स्‍टेशन होते हुए अंतिम स्‍टेशन मुंबई पहुंचेगी। 

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी और उनकी पत्नी अकी एबी का बुधवार को जोरदार स्वागत हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद हवाई अड्डे पर उनकी अगवानी की। मोदी ने शिंजो एबी को गले लगाकर गर्मजोशी से स्वागत किया। हवाई अड्डे से गांधी आश्रम तक आठ किमी रोड शो कर दोनों नेताओं ने लोगों का अभिवादन किया। मोदी सरकार ने इस रोड शो के जरिये एक नई परंपरा की शुरुआत करने के साथ ही भारत में सुरक्षा व्यवस्था के सामान्य होने का भी संदेश दिया है। हाल के वर्षो में यह पहली बार है, जब किसी मेजबान नेता ने मेहमान शासनाध्यक्ष के साथ इतना लंबा रोड शो किया हो।

हवाई अड्डे पर जापानी प्रधानमंत्री को सेना ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। एयरपोर्ट पर ही कलाकारों ने एबी दंपती को गुजरात की लोक कला व संस्कृति का दर्शन कराया। अकी एबी यहां कलाकारों का मोबाइल से फोटो लेती नजर आईं। हवाई अड्डे से पीएम मोदी, शिंजो एबी और उनकी पत्नी एक खुली जीप में रोड शो के लिए निकले। रास्ते में जगह-जगह विभिन्न राज्यों के कलाकारों ने उन्हें भारत की लोक संस्कृति के दर्शन कराए। रोड शो को देखने सड़कों पर महिला, पुरुष और युवाओं की भारी भीड़ उमड़ी। जापानी पीएम इस भव्य स्वागत से अभिभूत नजर आए। गांधी आश्रम में प्रधानमंत्री मोदी और शिंजो एबी ने गांधीजी के निवास हृदय कुंज की यात्रा की। मोदी और एबी ने यहां गांधीजी की तस्वीर को खादी की माला पहनाई। पीएम मोदी यहां गाइड की भूमिका में नजर आए।

 गांधी आश्रम में लिखा-लव एंड थैंक्यू

 जापान के प्रधानमंत्री ने गांधी आश्रम की वीआइपी विजिटर बुक में लिखे शुभकामना संदेश के अंत में लव एंड थैंक यू लिखा। इसके बाद शिंजो व अकी ने अपने-अपने नाम लिखे।

भारतीय परिधान में दिखे प्रधानमंत्री शिंजो एबी और उनकी पत्नी अकी

एयरपोर्ट पहुंचे तब पश्चिमी परिधान में थे। लेकिन, रोड शो के दौरान भारतीय परिधान में नजर आए। शिंजो एबी कुर्ता और पायजामा के साथ नीली जैकेट पहने दिखे। वहीं अकी एबी सलवार कुर्ता और दुपट्टे में नजर आई।

बापू के चरखा का तोहफा प्रधानमंत्री मोदी ने जापानी पीएम को गांधी आश्रम की यात्रा के बाद बापू का चरखा भेंट किया। इससे पहले मोदी, शिंजो व अकी एबी ने गांधीजी के कमरे में उनके चरखे, डेस्क आदि वस्तुओं के साथ फोटो खिंचाए।

 16वीं सदी की मस्जिद देखी

गांधी आश्रम के बाद प्रधानमंत्री मोदी और शिंजो एबी 16वीं सदी की मस्जिद 'सिद्दी सैयद की जाली' देखने गए। यह मस्जिद अपनी जालीदार खिड़कियों के लिए मशहूर है। गुजरात सल्तनत के आखिरी सुल्तान शम्स-उद-दीन मुजफ्फर शाह तृतीय के सेनापति अहमद शाह बिलाल झजर खान के अनुयायियों ने 1573 में इस मस्जिद का निर्माण कराया था।

कांग्रेस ने उठाया सवाल

कांग्रेस ने जापानी प्रधानमंत्री शिंजो एबी की राजकीय यात्रा राष्ट्रीय राजधानी के बजाय अहमदाबाद से शुरू होने पर सवाल उठाया है। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि जापान जैसे महत्वपूर्ण देश के प्रधानमंत्री का स्वागत नई दिल्ली में नहीं किया गया। उन्होंने कहा, 'हम उम्मीद करते हैं कि किसी विदेशी अतिथि की राजकीय यात्रा का इस्तेमाल गुजरात के विधानसभा चुनाव में नहीं किया जाएगा।'  

मोदी-शिंजो ने किया बुलेट ट्रेन का शिलान्यास, देखें तस्वीरें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:PM Modi and PM Shinzo to lay foundation of bullet train project today(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

शिंजो एबी का मनमोहक भाषण, नमस्कार से शुरूआत और धन्यवाद से अंतदेशभर के 1222 एनजीओ को बैंक खातों की पुष्टि कराने का आदेश
यह भी देखें