PreviousNext

व्यापार नीति में बदलाव से भारत की साख को नुकसान

Publish Date:Wed, 11 Apr 2012 06:46 PM (IST) | Updated Date:Wed, 11 Apr 2012 07:11 PM (IST)
व्यापार नीति में बदलाव से भारत की साख को नुकसान
देश की व्यापार नीतियों में बार-बार बदलाव तथा कृषि जिंसों के निर्यात पर प्रतिबंधों से एक विश्वसनीय व्यापारिक भागीदार के रूप में भारत की साख को नुकसान हो रहा है। यह कहना है उद्योग सं

नई दिल्ली। देश की व्यापार नीतियों में बार-बार बदलाव तथा कृषि जिंसों के निर्यात पर प्रतिबंधों से एक विश्वसनीय व्यापारिक भागीदार के रूप में भारत की साख को नुकसान हो रहा है। यह कहना है उद्योग संगठन भारतीय उद्योग परिसंघ [सीआईआई] ने कही है।

सीआईआई ने एक बयान में कहा कि भारत की व्यापार नीतियों में बार-बार बदलाव विदेशी खरीदारों के विश्वास को डिगा दिया है। सीआईआई के कृषि विपणन पर बने राष्ट्रीय कार्यबल के अध्यक्ष गोकुल पटनायक ने कहा कि कपास, दलहन, चीनी, कैसिइन जैसे विभिन्न कृषि जिंसों के निर्यात पर प्रतिबंध ने भारत के भरोसेमंद निर्यातक होने की विश्वसनीयता को खत्म कर दिया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Frequent amendment in trade policies hurting India's image, says CII(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

आईटी आपरेशन की कम लागत के लिए नई प्रणालीसात फीसदी रहेगी देश की आर्थिक विकास दर
अपनी प्रतिक्रिया दें
  • लॉग इन करें
अपनी भाषा चुनें




Characters remaining

Captcha:

+ =


आपकी प्रतिक्रिया
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें