PreviousNext

विधायक विकास मुंडा बोले, मैं कभी माफ नहीं करूंगा कुंदन को

Publish Date:Fri, 19 May 2017 04:30 PM (IST) | Updated Date:Fri, 19 May 2017 04:45 PM (IST)
विधायक विकास मुंडा बोले, मैं कभी माफ नहीं करूंगा कुंदन कोविधायक विकास मुंडा बोले, मैं कभी माफ नहीं करूंगा कुंदन को
विधायक विकास कुमार मुंडा को आभास है कि कुंदन पाहन चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा है।

राज्य ब्यूरो, रांची। कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन को सरेंडर कराने के तौर-तरीके पर छिड़ी बहस के बीच तमाड़ के विधायक विकास कुमार मुंडा अपने रुख पर पूरी तरह कायम हैं। लालपुर स्थित आवास पर बातचीत में उन्होंने कहा कि कुंदन जैसे लोग माफी के हकदार नहीं हैं। ऐसे लोगों को कड़ा दंड मिलना चाहिए ताकि सबक मिले। ऐसी सोच को कुचलने के लिए कदम बढ़ाना चाहिए। वे कभी कुंदन पाहन को माफ नहीं कर सकते।

कुंदन पाहन पर विधायक के पिता की हत्या का संगीन आरोप है। कुंदन पाहन को सरेंडर कराने के फैसले के खिलाफ उन्होंने तीन दिन तक अन्न-जल त्याग दिया। तबीयत बिगड़ी तो राज्य के गृह सचिव और पुलिस महकमे के आला अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि उनकी बात सुनी जाएगी। विकास कुमार मुंडा चाहते हैं कि राज्य की सरेंडर नीति में संशोधन होना चाहिए। कोई व्यक्ति हथियार के बल पर मारकाट मचाए तो उसे सजा देने की बजाय सत्कार करना सरासर अनुचित है।

फिलहाल विकास कुमार मुंडा नक्सलियों के खिलाफ मुहिम चलाना चाहते हैं। उनका अभियान पूरे राज्य में नक्सली हिंसा से प्रभावित लोगों से मिलना है और उन्हें राहत प्रदान कराना है। खासकर नक्सली हिंसा में शहीद पुलिसकर्मियों और अफसरों के प्रति उनकी संवेदना ज्यादा है। कहा, यूपी में शहीद डीएसपी की पत्नी को सरकार ने डीएसपी बनाया लेकिन झारखंड में ऐसा नहीं है। अनुकंपा पर मिलने वाली नौकरी सम्मानजनक हो, इसका ख्याल रखना होगा। राज्य सरकार को इस बाबत निर्णय लेना चाहिए।

विकास कुमार मुंडा को आभास है कि कुंदन पाहन चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा है। वे कहते हैं-ऐसे लोगों का मुकाबला करना मुझे आता है। उन इलाकों में भी भ्रमण करता हूं जहां तक शासन की पहुंच नहीं हो पाती। आम जनता के सुख-दुख का साथी बनकर उनके साथ रहता हूं। दुर्दांत नक्सली को सरेंडर कराकर नायक की तरह पेश करने से मेरे इलाके (तमाड़-बुंडू) के लोग आहत हैं। वे इसका जवाब देंगे।

सरकार से नहीं, नीतियों से विरोध

उन्होंने कहा कि नीतिगत मामलों पर उनका दल आजसू पार्टी का सरकार का विरोध करता है। इसमें कोई बुराई नहीं है। सरेंडर नीति में भी खामी है तो सरकार का ध्यान इस ओर दिलाया गया है। सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन और स्थानीय नीति पर आजसू का पक्ष किसी से छिपा नहीं है।

यह भी पढ़ेंः नक्सली कुंदन के सरेंडर के विरोध में धरने पर बैठे विधायक विकास मुंडा

यह भी पढ़ेंः गृह सचिव के आश्वासन पर विधायक विकास मुंडा ने तोड़ा अनशन

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Comment of MLA Vikas Munda on Naxalite Kundan(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

रांची में सेक्स रैकेट का खुलासा, तीन लड़कियां व एक ग्राहक गिरफ्तारमास कॉम में नामांकन के लिए आवेदन आमंत्रित
यह भी देखें