PreviousNext

कैश अवार्ड विजेताओं में बेटियां का दबदबा

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 03:01 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 03:01 AM (IST)
कैश अवार्ड विजेताओं में बेटियां का दबदबाकैश अवार्ड विजेताओं में बेटियां का दबदबा
जागरण संवाददाता, करनाल कैश अवॉर्ड 2015-16 में खिलाड़ी बेटियों ने अपना दबदबा कायम रखा।

जागरण संवाददाता, करनाल

कैश अवॉर्ड 2015-16 में खिलाड़ी बेटियों ने अपना दबदबा कायम रखा। जिले की खिलाड़ी बेटियों ने दिखा दिया कि शिक्षा ही नहीं खेल में भी उनका कोई सानी नहीं। जिले के कुल 87 खिलाड़ियों ने कैश अवॉर्ड की सूची में स्थाना बनाया। इनमें 32 बेटियां हैं। कुश्ती के कुल पांच खिलाड़ियों को यह इनाम मिलेगा, इसमें चार बेटियां हैं। सूची में सबसे अधिक 17 वालीबॉल के खिलाड़ी हैं। स्के¨टग के नौ, शू¨टग के सात व रेस¨लग के पांच खिलाड़ियों को अवॉर्ड से नवाजा जाएगा। कबड्डी, वुशु व शू¨टग में एक-एक खिलाड़ी को यह अवॉर्ड मिलेगा। इससे खिलाड़ियों के परिजनों में खुशी की लहर है। 22 व 23 मार्च को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश का नाम रोशन करने वाले 1845 खिलाड़ियों को प्रदेश सरकार 41.58 करोड़ रुपये देगी। अंबाला में होने वाले भारत केसरी दंगल में प्रदेशभर के खिलाड़ी सम्मानित होंगे। जिले से 10 कोच के साथ खिलाड़ी अंबाला के लिए कूच करेंगे। चूंकि अवॉर्ड की राशि सीधा खाते में आएगी इसलिए अवॉर्ड से पहले प्रोफार्मा भरना होगा। जिले के करीब सभी खिलाड़ी इसे भर चुके हैं।

पुरुषों में अर्जुन महिला वर्ग में नीलम को सबसे अधिक राशि

कैश अवार्ड के तहत वर्ष 2015-16 में जिले में सबसे अधिक मेडल जीतने पर घोघड़ीपुर के शूटर अर्जुन को सबसे अधिक 14.5 लाख रुपये की राशि मिलेगी। दूसरे नंबर पर जिले के मशहूर शूटर हरप्रीत ¨सह हैं। उन्हें 13.5 लाख रुपये सरकार देगी। एथलेटिक्स में अपना दबदबा रखने वाले बेअंत ¨सह को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। वहीं लड़कियों में दिव्यांग नीलम सबसे अधिक राशि बटोरेंगी। तैराकी में दो गोल्ड व दो सिल्वर मेडल जीतने पर उसे 10 लाख रुपये मिलेंगे। करनाल की तीरंदाज बेटी रिद्धि को भी सरकार 3.70 लाख रुपये देगी। शॉटपुट व डिस्कस थ्रो में ब्रांज लेकर सुर्खियों में छाने वाले नेत्रहीन सुनील को भी प्रदेश सरकार 1.5 लाख रुपये बतौर इनाम देगी।

कुश्ती में बड़ौता की बेटियों का नहीं कोई सानी

कुश्ती में बड़ौता गांव की बेटियों का कोई सानी नहीं। इसे उन्होंने एक बार फिर से साबित कर दिया। अंबाला में आयोजित भारत केसरी दंगल में जिले के पांच कुश्ती पहलवानों को प्रदेश सरकार सम्मानित करेगी। इनमें चार बेटियों हैं और चारों की बडौता गांव की हैं। संजू, सूष्टी, सुजाता और शिवानी के मुकाम हासिल करने पर गांव में खुशी का माहौल है। करीब छह साल से बड़ौता गांव में कुश्ती का नि:शुल्क दे रहे हरिश व सुरेंद्र ने कहा कि उन्हें अपनी कुश्ती खिलाड़ियों पर नाज है।

वर्जन

कैश अवॉर्ड 2015-16 के तहत जिले के 87 खिलाड़ियों अंबाला में 23 मार्च को 1.98 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। जिले से 32 बेटियों का इसमें शामिल होना हमारे लिए गौरव की बात है। प्रदेश सरकार व खेल मंत्री बेटियों को खेल में आगे बढ़ाने के लिए प्रयासरत हैं।

सत्यदेव मलिक, जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी, करनाल

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:asaaSas(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

कर्मचारियों ने की सरकार के खिलाफ नारेबाजीप्लेटफार्म पर ही मालगाड़ी से कोयला चोरी
यह भी देखें