पानी की बचत करने के बताए तरीके

Publish Date:Sat, 14 Dec 2013 06:21 PM (IST) | Updated Date:Sun, 15 Dec 2013 11:24 AM (IST)

संवाद सहयोगी, पूंडरी : डॉ. पवन शर्मा उप कृषि निदेशक कैथल के मार्ग दर्शन में खंड पूंडरी के खेड़ी मटरवा गांव में कृषि विभाग पूंडरी के द्वारा फसल विविधीकरण स्कीम के अंतर्गत एक दिवसीय किसान प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता खंड कृषि अधिकारी डॉ. कृष्ण पाल सिंह ने की।

डॉ. बलवान सिंह एडीओ फरल ने धान की सीधी बीजाई पर जोर देते हुए किसानों को बताया कि इससे किसान भाई 30 से 40 प्रतिशत पानी की बचत कर सकते हैं।

इस अवसर पर डॉ. नरेश ग्रोवर ने फसल विविधीकरण पर जोर देते हुए किसानों को बताया कि धान की खेतों में अंधाधुंध पानी के प्रयोग से भू जलस्तर लगातार गिर रहा है। इसके चलते किसानों को भविष्य में बहुत बड़ी पानी की कमी का सामना करना पड़ सकता है जो कि एक बहुत बड़ी चुनौती है। डॉ. संजीव कुमार ने किसानों को जागरूक किया कि गेहूं की फसल में मंडूसी को नष्ट करने के लिए दवाओं को बदल बदल प्रयोग करें और स्प्रे के समय पानी की उचित मात्रा रखें। डॉ. भूपेश ने बायोगैस प्लांट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस मौके पर सरंपच गुरमेज सिंह, करण सिंह, मामचंद, धर्मपाल, सतपाल, ओमप्रकाश, पाला राम व कर्मबीर आदि उपस्थित थे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर

कमेंट करें

    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)
    यह भी देखें

    अपनी प्रतिक्रिया दें

    अपनी भाषा चुनें
    English Hindi


    Characters remaining

    लॉग इन करें

    निम्न जानकारी पूर्ण करें

    Name:


    Email:


    Captcha:
    + =


     

      यह भी देखें
      Close