मलेरिया और डेंगू के मरीजों में आ रही कमी

Publish Date:Thu, 14 Sep 2017 03:02 AM (IST) | Updated Date:Thu, 14 Sep 2017 03:02 AM (IST)
मलेरिया और डेंगू के मरीजों में आ रही कमीमलेरिया और डेंगू के मरीजों में आ रही कमी
दीपक शर्मा,भिवानी : स्वास्थ्य विभाग के जागरूकता अभियान का असर यह रहा है कि मलेरिया व डेंग

दीपक शर्मा,भिवानी :

स्वास्थ्य विभाग के जागरूकता अभियान का असर यह रहा है कि मलेरिया व डेंगू के मरीजों में कमी आई है। विभागीय आंकड़े बताते हैं कि पिछले साल सितंबर तक मलेरिया के 179 पॉजिटिव मरीज मरीज मिले थे। वहीं इस साल मलेरिया के 51 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। वहीं पिछले साल सितंबर माह तक 17 डेंगू के मरीज मिले थे। जबकि इस बार केवल 7 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि मलेरिया व डेंगू को बहुत हद तक कंट्रोल कर लिया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पिछले साल मलेरिया व डेंगू के पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद विभाग सतर्क हो गया था। इसके बाद से मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए विशेष अभियान चलाए जा रहे है। विभाग की माने तो पिछले साल सबसे अधिक मरीज गांव धनाना में मिले थे। इसलिए विभाग ने सबसे पहले तो गांव धनाना को अपना सेंटर बनाया और एंटी मलेरिया एवं एंटी डेंगू एक्टीविटी करवाई गई। विभाग का दावा है कि गांव धनाना के आसपास अधिक मात्रा में जल इकट्ठा हो गया। इसलिए वहां पर मच्छर अधिक पनपते हैं। इसलिए विभाग ने धनाना को गंभीरता से लेते हुए वहां पर रोकथाम के सभी गतिविधियां की। स्वास्थ्य विभाग ने मच्छर जनित बीमारियों को रोकने के लिए शहर में फॉगिंग का कार्य नगर परिषद व गांव में फॉगिंग का कार्य ग्राम पंचायत को सौंपा है। हालांकि दवाई स्वास्थ्य विभाग मुहैया करवा रहा है। ताकि मच्छरों को फो¨गग के माध्यम से नष्ट किया जा सके। विभाग ने लारवा की रोकथाम के लिए तालाबों में गंबूजिया मछली छोड़ी गई। इस अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग ने जिले भर के 80 तालाबों में गंबूजिया मछली छोड़ी। ताकि इन तालाबों में मच्छर का लारवा न पनप सके। साथ ही स्वास्थ्य मंत्री ने भी डेंगू मलेरिया की रोकथाम के लिए सरपंच व पंचों से अपील की थी। ताकि वे मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के सहयोग करें। स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू व मलेरिया के मरीजों के लिए फ्री सुविधा दी जा रही है। वहीं जिला अस्पताल में डेंगू व मलेरिया की निशुल्क जांच होती है, वहीं इलाज भी फ्री होता है। स्वास्थ्य विभाग ने पॉजिटिव मरीजों के लिए अलग से वार्ड नंबर 9 बनाया गया है। जहां पर मरीजों को रखा जाता है।

.............

मित्ताथल में चलाया विशेष अभियान

स्वास्थ्य विभाग की माने तो इस बार गांव मित्ताथल में मलेरिया के 4 पॉजिटिव मरीज मिले है। मरीजों की अधिक संख्या को देखते हुए विभाग ने गांव में एंटी मलेरिया अभियान चलाया। इसके साथ विभाग ने मरीजों पर भी विशेष नगर रखी हुई है। हालांकि फिलहाल स्थिति कंट्रोल में बताई जा रही है। वहीं धनाना को भी मुख्य ¨बदु मानकर कार्य किया जा रहा है।

...............

मच्छर का लारवा मिलने पर दिए 6288 नोटिस

स्वास्थ्य विभाग ने मच्छर के लारवा को मच्छर बनने से पहले रोकने के लिए टीमें गठित करके अभियान चलाया हुआ है। इसके तहत जिले भर में टीम घर, सरकारी आफिस व दुकान आदि में जाकर लारवा की जांच कर रही है। इस अभियान के तहत जहां कहीं भी मच्छर का लारवा मिलता है, तो टीम पहले उस लारवा को नष्ट करने की गतिविधि करती है और बाद में नोटिस थमा देती है। साथ ही हिदायत भी देती है कि यदि फिर से लारवा मिला तो चालान काटा जाएगा। वहीं लारवा से फैलने वाली डेंगू व मलेरिया जैसी बीमारियों के प्रति भी जागरूक करती है। इस अभियान के तहत विभाग ने 6288 नोटिस काटे हैं।

.................

ये करें बचाव

* अपने आसपास पानी जमा न होने दें।

* पानी की टंकी व अन्य बर्तनों को ढक कर रखे।

* पूरे शरीर को कपड़े से ढक कर रखे।

* सफाई का विशेष ध्यान रखें और आसपास झाड़ियों को न होने दें।

* रात को सोते समय मच्छरदानी का इस्तेमाल करें।

* बीमारी के लक्षण दिखाई देते ही तुरंत जांच करवाएं।

* समय-समय पर फॉगिंग या मच्छर मारने वाली दवाई का छिड़काव करें।

* खिड़की व दरवाजे में जाली लगाकर रखें और शाम को बंद रखें।

.............

मलेरिया के लक्षण

* ठंड के साथ तेज बुखार आना।

* सिर दर्द व बदन दर्द।

* जी मचलाना व उल्टी आना।

* कमजोरी आना।

* भूख न लगना या कम लगना।

* खून की कमी होना।

* सांस लेने में दिक्कत होना।

* प्लेटलेट्स की कमी होने के कारण त्वचा पर लाल धब्बे होना।

.............

डेंगू व मलेरिया की रोकथाम में जुटे 55 कर्मचारी

स्वास्थ्य विभाग के 55 कर्मचारी व अधिकारी डेंगू व मलेरिया की रोकथाम में जुटे हुए है। इस अभियान के तहत 1 डिप्टी सीएमओ, 4 स्वास्थ्य निरीक्षक, 6 आयुष विभाग के चिकित्सक, 6 इएसआइ के चिकित्सक, 15 फील्ड वर्कर व 22 बहुउद्देशीय कर्मचारी जुटे हुए है।

.............

बीमारी 2016 में पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2017 में पॉजिटिव मरीजों की संख्या

डेंगू 17 7

मलेरिया 179 51

वर्जन..........

मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए विभाग द्वारा विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं। जहां कहीं भी मलेरिया के मरीज मिलते हैं वहां पर एंटी मलेरिया गतिविधि की जाती है। साथ ही जहां कही लारवा मिलता है तो नोटिस देकर जागरूक किया जाता है।

डॉ. यतिन गुप्ता, डिप्टी सीएमओ,भिवानी।

.........

स्वास्थ्य विभाग डेंगू व मलेरिया जैसी मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम के लिए विशेष अभियान चलाए हुए है। हालांकि अभी तक स्थिति काफी हद तक कंट्रोल है। वहीं आगे भी स्थिति नियंत्रित रखी जाएगी। इसके लिए आम जनता को भी जागरूक होना पड़ेगा और स्वास्थ्य विभाग का साथ देना होगा।

डॉ. रणदीप ¨सह पूनिया, सीएमओ, भिवानी।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Maleria control(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें