PreviousNext

रिपोर्ट कार्ड : चितरंजन पार्क

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 09:29 PM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 09:29 PM (IST)
रिपोर्ट कार्ड : चितरंजन पार्करिपोर्ट कार्ड : चितरंजन पार्क
निगम पार्षद : वीरेंद्र कसाना राजनीतिक दल : कांग्रेस कुल मतदाता : 52211 पंजाबी 20000 बंगाली :

निगम पार्षद : वीरेंद्र कसाना

राजनीतिक दल : कांग्रेस

कुल मतदाता : 52211

पंजाबी 20000

बंगाली : 15000

2012 का चुनाव परिणाम

- वर्ष 2012 निगम चुनाव में विजेता : वीरेंद्र कसाना

भाजपा नेता को मत मिले : करीब 9000

द्वितीय स्थान पर रहे : डॉ. आनंद मुखर्जी

कांग्रेस को मत मिले : करीब 12000

परिसीमन के बाद की स्थिति

परिसीमन होने के बाद से वार्ड में कुछ बदलाव हुए हैं। अब इस वार्ड में पॉश कॉलोनी ग्रेटर कैलाश-2, मस्जिद मोठ व ग्रेटर कैलाश-2 एंक्लेव के इलाके जुड़ गए हैं, जिससे यहां करीब 13 हजार नए वोटर भी जुड़ गए हैं। पहले ये तीनों इलाके चिराग दिल्ली वार्ड में थे।

पार्षद के पाच अहम कार्य

- क्षेत्र में 44 ट्यूबवेल लगवाए हैं, जबकि पहले इनकी संख्या सिर्फ चार थी।

- सभी 250 पार्को में पानी पहुंचाया, 200 डस्टबिन रखवाए और बच्चों के लिए 25 फाइबर के झूले ओपन जिम, रेन-शैल्टर (गजीबो) बनवाए।

- महिलाओं की सुरक्षा के लिए 130 जगह एलईडी लाइटें लगवाई।

- दो लॉन टेनिस कोर्ट, तीन क्रिकेट प्रैक्टिस सेंटर, 20 बैडमिंटन कोर्ट, तीन बड़े फुटबॉल ग्राउंड बनवाए।

- गरीब महिलाओं को सिलाई मशीन उपलब्ध कराई।

पाच विफलताएं

- सड़क के किनारे रेहड़ी-पटरी वालों पर पूरी तरह लगाम नहीं लग सकी।

- बड़ी तादाद में कॉमर्शियल वाहनों के आने-जाने से प्रभावित हो रही यातायात व्यवस्था को पूरी तरह नहीं सुधारा जा सका।

- 20 कॉलोनियों में ओपन जिम लगाए गए, लेकिन कई कॉलोनियों में अब भी ये नहीं लग पाए हैं।

- वार्ड में सिर्फ पांच रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाए जा सके हैं।

- वार्ड में पीडब्ल्यूडी व निगम अधिकारियों में बेहतर तालमेल के अभाव में कुछ नालियों की सफाई में आने वाली बाधा दूर नहीं हुई।

लोगों की राय

निगम पार्षद ने क्षेत्र में अत्याधुनिक सुविधाओं सहित 16 सार्वजनिक (महिला/पुरुष) शौचालयों का निर्माण करवाया है। साथ ही महत्वपूर्ण शौचालयों में नियमित सफाई कर्मचारी की नियुक्ति भी की गई है जो सुबह छह से रात 10 बजे तक सफाई आदि की व्यवस्था बनाए रखते हैं। इससे लोगों को काफी सुविधा हुई है। हम उनके काम से पूरी तरह संतुष्ट हैं।

- सुजॉय घोष, सीआर पार्क।

निगम पार्षद ने क्षेत्र में तमाम विकास कार्य करवाए हैं। जरूरत पड़ने पर वह हमेशा खुद भी उपलब्ध रहते हैं। उन्होंने मंदाकिनी में एक हर्बल पार्क बनवाया है, ओपन जिम लगवाया है और सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था करवाई है। पेड़ों की नियमित रूप से प्रूनिंग भी करवाई है। वह जनता के बीच रहने वाले नेता हैं। हम उनके काम से संतुष्ट हैं।

- डॉ. केके सिरोही, मंदाकिनी एंक्लेव।

निगम पार्षद ने क्षेत्र के पार्को का विकास किया है। उन्होंने सफाई के लिए कई ठेलों की व्यवस्था भी की है, जिनसे कूड़ा-कचरा ले जाने में सफाई कर्मचारियों को सुविधा हुई। वह काफी मिलनसार और हमेशा उपलब्ध रहने वाले व्यक्ति हैं। लोगों के सुख-दुख में शामिल होने के कारण ही वह हम लोगों के पसंदीदा जनप्रतिनिधि बन गए हैं।

- डॉ.आरपी शर्मा, कालकाजी, डीडीए फ्लैट्स।

वीरेंद्र कसाना ने अपने वार्ड में अच्छा काम किया है। उन्होंने लोगों के बीच में रहकर काम किया है। उन्होंने क्षेत्र में पार्को का विकास, शौचालय व सड़कों का निर्माण, एलईडी स्ट्रीट लाइटें, ओपन जिम, हाइमास्क जैसे महत्वपूर्ण काम किए हैं। हम उनके काम से संतुष्ट हैं। अब हमारा क्षेत्र भी उनके वार्ड में आ गया है। उनसे अब और अच्छे काम की अपेक्षा है।

- अशोक बग्गा, ग्रेटर कैलाश-2

----------------

हमने पांच साल में क्षेत्र को हरा-भरा बनाने के लिए 44 ट्यूबवेल लगवाकर सभी 250 पार्को में पानी पहुंचाया है। पार्को में 200 डस्टबिन रखवाए, 25 फाइबर के झूलों के सेट लगवाए, ओपन जिम, सात रेन-शेल्टर (गजीबो) बनवाए हैं। वार्ड में दो लॉन टेनिस कोर्ट, तीन क्रिकेट प्रैक्टिस सेंटर, 20 बैडमिंटन कोर्ट और तीन बड़े फुटबॉल ग्राउंड बनवाए हैं। क्षेत्र में 16 सार्वजनिक (महिला/पुरुष) शौचालय बनवाए और इनमें सफाईकर्मी रखे। अलकनंदा झुग्गी कैंप को मदनपुर खादर शिफ्ट कराया। वार्ड में आईजीएल की गैस पहुंचाने में मदद की। वार्ड की सभी सड़कें, फुटपाथ और बैक लेन बनवाया। फिक्स्ड कांपैक्टर प्लाट लगवाया, जिसमें क्षेत्र का करीब 30 टन कूड़ा आता है। 130 जगह एलईडी लाइट सहित बिजली के पोल लगवाए। गरीब महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सिलाई मशीन उपलब्ध कराई।

- वीरेंद्र कसाना, निगम पार्षद।

दावों का पोस्टमार्टम

कांग्रेस के नेता एक काम करते हैं और 10 काम गिनाते हैं। लोगों के साथ पब्लिक रिलेशन बनाना इन्हें अच्छी तरह से आता है। इसीलिए जनता को लगता है कि वे उनके लिए काम कर रहे हैं, लेकिन हकीकत यह है कि कांग्रेस नेताओं की सारी सक्रियता चुनाव नजदीक आने पर ही नजर आती है। ऐसे नेता यदि पूरा फोकस क्षेत्र के विकास पर करें तो इससे आम लोगों को फायदा हो। अन्य पार्टियों व नेताओं को भाजपा की कार्यशैली से कुछ सीखना चाहिए। सीआर पार्क के पार्षद ने उन कामों श्रेय भी खुद ले लिया, जो काम स्थानीय आरडब्ल्यूए कर रही हैं। या फिर जिसे क्षेत्र की जनता अपने खर्च पर कर रही है।

- डॉ.आनंद मुखर्जी, पूर्व प्रत्याशी।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    टमाटर की सेहत बिगड़ी, नहीं मिल रहा भावगर्मी बढ़ते ही शुरू हुई बिजली की आखं मिचौली
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें