पापा मेरे जन्मदिन पर पैदल आ जाना, महानंदा से मत आना

Publish Date:Tue, 07 May 2013 12:58 AM (IST) | Updated Date:Tue, 07 May 2013 12:59 AM (IST)

धनंजय कुमार, नई दिल्ली

बेटी के जन्मदिन पर दिल्ली आने के लिए खुशबू के पापा ने महानंदा एक्सप्रेस ट्रेन में बर्थ आरक्षित कराई और बेटी को इसकी जानकारी दी। लेकिन खुशबू उदास हो गई। उसने पापा से कहा पापा मेरे जन्मदिन वाले दिन आप घर पहुंचना चाहते हैं तो पैदल आ जाइए, लेकिन महानंदा से मत आइए। क्योंकि यह ट्रेन निर्धारित समय से 56 घंटे देरी से पहुंचती है। यह दर्द खुशबू या उसके पापा का ही नहीं। यह कहानी महानंदा एक्सप्रेस से सफर करने वाले सभी रेल यात्रियों की है। क्योंकि इस ट्रेन के न तो अलीपुर द्वार से चलने का पता है और न ही इसके दिल्ली पहुंचने का ठिकाना।

रेल यात्रियों के लिए इस ट्रेन का सफर किसी सजा से कम नहीं है। यह ट्रेन किसी दिन निर्धारित समय से 48 घंटे की देरी से दिल्ली पहुंचती है तो किसी दिन 56 घंटे की देरी से। ट्रेन में यात्री भूख-प्यास से भी परेशान हो जाते हैं। यात्रियों की परेशानी तब और बढ़ जाती है, जब इस ट्रेन को रद कर दिया जाता है। छह मई को दोनों दिशाओं की ट्रेनें रद कर दी गईं और जिस ट्रेन को पांच मई को निर्धारित समय सुबह 6:40 बजे रवाना किया जाना था, उसे छह मई की सुबह 7:35 बजे रवाना किया गया।

कहां होती है ट्रेन लेट

इस ट्रेन के लेट होने कारण अधिकारियों को भी पता नहीं है। रेलवे अधिकारी बताते हैं कि सफर के बीच में यदि कोई ट्रेन लेट होती है तो वह लेट होती चली जाती है, क्योंकि उसके लिए अलग से समय निर्धारित नहीं किया जाता। व्यस्त समय के बीच खाली समय में ही इसका परिचालन किया जाता है। यह ट्रेन बंगाल, बिहार व उत्तर प्रदेश के इलाकों में लेट होती है।

अधिकारियों का तर्क

इस बारे में उत्तर रेलवे के अधिकारी कहते हैं कि यह ट्रेन नॉर्थ फ्रंटियर रेलवे जोन की है। वहीं से लेट आने की वजह से इसे दिल्ली से भी लेट ही रवाना किया जाता है। वहीं नॉर्थ फ्रंटियर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी हूजांग कहते हैं कि यात्रियों के साथ हो रही परेशानी को दूर करने की हम कोशिश कर रहे हैं।

ट्रेन के लेट आने-जाने का समय

तारीख, दिल्ली पहुंची, तारीख, रवाना

30 अप्रैल 34 घंटे 01मई 26 घंटे

01 मई 30 घंटे 02मई 23 घंटे

02 मई 56 घंटे 03मई 47 घंटे

03 मई 48 घंटे 04मई 40 घंटे

04 मई 34 घंटे 05मई 25 घंटे

05 मई रद 06मई रद

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर

कमेंट करें

    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)
    यह भी देखें

    अपनी प्रतिक्रिया दें

    अपनी भाषा चुनें
    English Hindi


    Characters remaining

    लॉग इन करें

    निम्न जानकारी पूर्ण करें

    Name:


    Email:


    Captcha:
    + =


     

      मिलती जुलती

      • बिटिया ने पुलिस को बताया मां नहीं थी तो पापा ने...पढ़ें खबर

        कलयुगी बाप का एक और घिनौना चेहरा दिल्ली से सटे फरीदाबाद से सामने आया है। यहां सेक्टर-31 में रहने वाले एक पिता ने ही अपनी बेटी की आबरू पर धावा बोल दिय

      • शेल्टर होम छोड़ने के बाद पापा के साथ घर में रहेगी दुष्‍कर्म पीड़िता

        सगे भाई के हवस का शिकार बनने के बाद से शेल्टर होम में रह रही 16 वर्षीय किशोरी की कस्टडी को दिल्ली हाईकोर्ट ने उसके पिता को सौंप दिया है। इसके साथ ही

      • जागरण न्यूज़ मिनट

        पेश है 1 मिनट में इस समय की सभी बड़ी खबरें..

      • पापा मेरे पापा..

        मां घर का गौरव तो पिता घर का अस्तित्व होते हैं.. तो इस फादर्स डे पर अपने पिता के नाम दीजिए अपने प्यार का पैगाम।

      • शेल्टर होम छोड़ने के बाद पापा के साथ घर में रहेगी दुष्‍कर्म पीड़िता

        सगे भाई के हवस का शिकार बनने के बाद से शेल्टर होम में रह रही 16 वर्षीय किशोरी की कस्टडी को दिल्ली हाईकोर्ट ने उसके पिता को सौंप दिया है। इसके साथ ही

      यह भी देखें
      Close