PreviousNext

ब्याज दर से लेकर निकासी नियम तक ये हैं PF खाते में हुए 5 बड़े बदलाव

Publish Date:Mon, 17 Apr 2017 05:23 PM (IST) | Updated Date:Mon, 17 Apr 2017 05:23 PM (IST)
ब्याज दर से लेकर निकासी नियम तक ये हैं PF खाते में हुए 5 बड़े बदलावब्याज दर से लेकर निकासी नियम तक ये हैं PF खाते में हुए 5 बड़े बदलाव
जानिए आपकी सैलरी से कटने वाले पीएफ से जुड़ी पांच बड़ी बातें

नई दिल्ली (जेएनएन)। आपकी सैलरी के कटने वाले पीएफ से जुड़ी बीते कुछ हफ्तों में तमाम बड़ी खबरें आईं। ये सभी अहम फैसले पीएफ पर मिलने वाले ब्याज, निकासी या सुविधाओं से जुड़े हैं। अपनी इस रिपोर्ट में हम आपको विस्तार से उन सभी फैसलों के बारे में बता रहे हैं जो आपके लिए जानने बेहद जरूरी हैं।

EPFO सदस्यों को मिलेगा लॉयल्टी-कम-लाइफ बेनेफि‍ट
ईपीएफओ सदस्यों को जल्द ही बड़ी खुशखबरी दे सकता है। ईपीएफओ जल्द ही सदस्यों को 50,000 रुपए तक का लॉयल्टी-कम-लाइफ बेनेफि‍ट देने की तैयारी कर रहा है। यह लाभ उस सूरत में दिया जाएगा जब सदस्य ने पीएफ योजना में 20 साल या इससे अधिक तक योगदान किया हो। यह फायदा उसे रिटायरमेंट के समय दिया जाएगा। साथ ही ईपीएफओ बोर्ड ने यह निर्णय लिया है कि स्थायी अपंगता के मामले में भी लाइफ बेनेफि‍ट दिया जाएगा। हालांकि इसमें वह शर्त शामिल नहीं है कि सदस्य ने बतौर कर्मचारी 20 साल की सेवा पूरी की हो या नहीं।

EPF में जमा पैसे पर मिलेगा 8.65 फीसद का ब्याज
रिटायरमेंट बॉडी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के सब्सक्राइबर्स को वित्त वर्ष 2016-17 के लिए जमा पर 8.65 फीसद की दर से ही ब्याज मिलेगा। इससे करीब चार करोड़ सब्सक्राइबर्स को सीधे तौर पर फायदा मिलेगा। यह जानकारी गुरुवार को श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने दी है। गौरतलब है कि ईपीएफओ की निर्णय लेने वाली संस्था केंद्रीय न्यासी बोर्ड ने पिछले साल दिसंबर में अंशधारकों को 8.65 फीसद ब्याज देने पर अंतिम फैसला लिया था।

CBT ने दिया सुझाव:
EPFO की निर्णय लेने वाली संस्थान सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी (CBT) ने यह सुझाव दिया है कि सदस्य की मौत पर न्यूनतम 2.5 लाख रुपए की बीमा राशि दी जानी चाहिए। साथ ही उसने यह सुझाव भी दिया है कि लॉयल्टीश-कम-लाइफ बेनेफि‍ट देने के लिए एम्पलॉई डिपोजिट लिंक्ड इंश्योरेंस स्कीम में संशोधन किया जाना चाहिए।

शेयर बाजार में 15 फीसद तक निवेश बढ़ाने का फैसला कर सकता है EPFO बोर्ड: रिपोर्ट
ईपीएफओ का बोर्ड 2017-18 के लिए शेयरों में अपने निवेश को 15 फीसद करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे सकता है। मौजूदा समय में यह सीमा 10 फीसद है। एक सूत्र ने बताया, “एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेश को लेकर निर्धारित सीबीटी मीटिंग में निवेश को बढ़ाकर 15 फीसद किए जाने पर फैसला लिया जा सकता है।”
न्यासियों का केंद्रीय बोर्ड, जो कि ईपीएफओ में सर्वोच्च निर्णय लेने वाली इकाई है, ने 30 मार्च को अपनी पिछली बैठक में ईटीएफ में निवेश बढ़ाने के प्रस्ताव पर एक निर्णय स्थगित कर दिया था। रिटायरमेंट बॉडी ईपीएफओ ईटीएफ के माध्यम से शेयरों में अपने निवेश योग्य जमाराशि का हिस्सा निवेश करती है। सूत्र ने बताया कि इस बैठक के संशोधित एजेंडा में ईपीएफओ की ओर से ईटीएफ निवेश पर स्टेटस रिपोर्ट भी शामिल है।

मोबाइल एप UMANG से जल्द निकाल पाएंगे PF का पैसा
रिटायरमेंट बॉडी कर्मचारी भविष्य निधि संगठन जल्द ही एक मोबाइल एप उमंग (UMANG)को लॉन्च करेगा। इस एप की मदद के करीब 4 करोड़ सब्सक्राइबर्स मोबाइल के माध्यम से ही अपने पीएफ खाते में जमा राशि की निकासी कर पाएंगे। यानी अब भविष्या निधि (PF)की निकासी जैसे दावों का निपटान मोबाइल फोन से संभव हो सकेगा।

श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि ईपीएफओ पीएफ दावे (क्लेम) के आवेदन ऑनलाइन तौर पर प्राप्त करने के लिए तैयारी में लगा है। संगठन इसके तहत ऑनलाइन दावा निपटान प्रक्रिया विकसित कर रहा है। ऑनलाइन क्लेम प्राप्त करने के लिए आवेदन को यूनीफाइड मोबाइल एप फॉर न्यू-एज गवर्नेस (उमंग) से जोड़ा जाएगा।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Know big changes related to provident fund(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

जीपीएफ, ईपीएफ और पीपीएफ में क्या होता है अंतर, जानिएनीलाम होगी देश की पहली लग्जरी हिल सिटी 'एंबी वैली', जानिए इससे जुड़ी खास बातें
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »