लंदन, प्रेट्र। श्रीनगर में जन्मे प्रतिष्ठित भारतवंशी पत्रकार और प्रसारक महेंद्र कौल का बुधवार को यहां निधन हो गया। 95 वर्षीय कौल कुछ समय से बीमार थे। लंदन स्थित आवास पर उनके देहांत के समय उनकी पत्नी रजनी और बेटी कल्याणी मौजूद थीं।

रेडियो कश्मीर से अपने करियर की शुरुआत करने वाले कौल ने ऑल इंडिया रेडियो के प्रसारक के तौर पर पत्रकारिता में अपनी पहचान बनाई। वाशिंगटन स्थित वॉइस ऑफ अमेरिका में कुछ दिन काम करने के बाद वह लंदन में बीबीसी से जुड़े, जहां उन्होंने करीब दो दशक तक दक्षिण एशियाई दर्शकों के लिए कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

कौल का 'अपना ही घर समझिए' कार्यक्रम दर्शकों के बीच काफी मशहूर हुआ और 14 साल तक उसका प्रसारण किया गया। उन्होंने ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मार्ग्रेट थैचर, भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, फिल्म अभिनेता राज कपूर और दिलीप कुमार जैसी कई नामी-गिरामी हस्तियों का साक्षात्कार भी लिया।

1975 में वह 'ऑर्डर ऑफ द ब्रिटिश अंपायर' से सम्मानित होने वाले पहले एनआरआइ बने। कौल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए लॉर्ड स्वराज पॉल ने कहा, 'उनके जैसे महान व्यक्ति और दोस्त को खोना बहुत दुखदायी है। ब्रिटेन में रह रहे भारतीयों की छवि बेहतर करने में उनका योगदान महत्वपूर्ण है।'

 

By Bhupendra Singh