लंदन, पीटीआइ। ब्रिटेन ट्रकों और ट्रक चालकों की कमी के कारण आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के संकट से गुजर रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन में खाने-पीने की चीजों की कमी हो गई। सुपर मार्केट भी इस संकट से प्रभावित हुए हैं। पेट्रोल पंपों और गैस स्टेशनों पर वाहनों की लंबी कतारें नजर आ रही हैं। पूरे देश में अफरातफरी का माहौल नजर आ रहा है। आलम यह है कि सरकार अपने मौसमी श्रमिक योजना का विस्तार करने जा रही है। इस कवायद के तहत सरकार 10 हजार से अधिक अस्थायी वीजा की पेशकश करेगी ताकि आस-पास के यूरोपीय देशों में ट्रक चालकों की कमी को पूरा किया जा सके। 

ब्रिटेन में गहराए इस संकट को लेकर विपक्ष ने ब्रेक्सिट को दोषी ठहराया है। वहीं सरकार का कहना है कि जरूरी वस्‍तुओं की कमी महामारी के मद्देनजर एक अस्थायी मुद्दा है जिसे दीर्घकालिक प्रशिक्षण के साथ हल किया जाएगा। सरकार ने शनिवार रात को कहा कि पांच हजार ईंधन टैंकर और खाद्य आपूर्ति ट्रक चालक ब्रिटेन में तीन महीने के लिए काम करने के योग्य होंगे। यही नहीं क्रिसमस के मौसम में आपूर्ति को पूरा करने के लिए योजना को 5,500 पोल्ट्री श्रमिकों तक भी बढ़ाया जा रहा है।

समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक उपायों का यह पैकेज यूके में इस संकट को कम करने के लिए किए गए महत्वपूर्ण कार्यों पर आधारित है। ब्रिटेन के परिवहन मंत्री ग्रांट शाप्स ने कहा कि सरकार भारी माल वाहन चालकों की कमी को दुरुस्‍त करते हुए ढुलाई और खाद्य उद्योगों की मदद करने के लिए हर संभव कोशिश करेगी। उन्‍होंने कहा कि उद्योगों को भी काम करने की स्थिति में सुधार के साथ अपनी भूमिका निभानी चाहिए। यही नहीं कंपनियों को नए ड्राइवरों को बनाए रखने के लिए तनख्‍वाह में भी बढ़ोतरी करनी चाहिए।

परिवहन मंत्री ग्रांट शाप्स ने कहा कि यह क्रिसमस हम सभी के लिए बेहद महत्वपूर्ण है इसलिए हम जल्द से जल्द ये कदम उठाने जा रहे हैं ताकि तैयारियां पटरी पर रहे। अतिरिक्त अल्पकालिक भारी वाहन चालको और कुक्कुट श्रमिकों के लिए वैध वीजा के साथ भर्ती अगले महीने शुरू होगी। हालांकि शिक्षा विभाग का कहना है कि वीजा जारी करना दीर्घकालिक समाधान नहीं होगा। इसके लिए उद्योगों के भीतर भी सुधार किए जाने जरूरी हैं। विभाग तीन हजार से ज्‍यादा लोगों को भारी वाहन चालक को प्रशिक्षित करने के लिए नए कौशल बूटकैंप बनाने के लिए भारी निवेश कर रहा है।