लंदन (एजेंसी)। एक ग्लोबल पॉलिसी प्लेटफॉर्म 'एपोलिटिकल' नामक संस्था ने 2018 के दुनियाभर के डिजिटल गवर्नमेंट में शामिल 100 प्रभावशाली लोगों को चुना है। यूके आधारित इस संस्था ने इन 100 लोगों की सूची में भारत के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद भी हैं, उन्हें शीर्ष 20 नेताओं में स्थान दिया गया है। इन 100 लोगों की सूची में दुनियाभर के प्रतिभाशाली महिला और पुरुष शामिल हैं। दुनियाभर में डिजिटल वर्ल्ड में अहम योगदान देने वाले लोगों की नाम इस सूची में रखा गया है।

इस सूची में शामिल लोगों के माध्यम से डिजिटल फील्ड की दुनिया में इनके नवाचार योगदान को बताने की कोशिश की गई है। सूची में शामिल सभी प्रतिभाशाली व्यक्तियों ने तकनीक के माध्यम से प्रभावी सरकार को चलाने में अपना योगदान दिया है। इन्होंने सरकार में रहकर डिजिटल वर्ल्ड की दुनिया में नीति निर्माण से लेकर, शोधकार्य जैसे अन्य क्षेत्रों में इसकी भमिका की जमीन तैयार की है, डिजिटल तकनीक के संसाधनों से पैदा हुए नए अवसरों का पूरा उपयोग किस प्रकार से किया जाए।

'द गवर्नेंस लैब' (गोवलैब) ने इस सूची का निर्माण किया है जिसे एपोलिटिकल ने जारी किया है। द गोवलैब का उद्देश्य कानून, नीति, तकनीक के क्षेत्र में तकनीक के माध्यम से नवाचार को बढ़ावा देना है। साथ ही सरकारी तंत्र में पारदर्शिता, नागरिक भागीदारी, छात्रों, नागरिक नेताओं और आंत्रप्रेन्योर को बढ़ावा देना ताकि वो विकास कार्यों में अपनी अहम भूमिका निभा सकें।

शीर्ष 20 में भारत के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद
रविशंकर प्रसाद वर्तमान में भारत सरकार में सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्री का कार्यभार संभाल रहे हैं। रवि शंकर प्रसाद सुप्रीमकोर्ट में एक पेशेवर अधिवक्ता रह चुके हैं। वे मुख्यरुप से बिहार के पटना से ताल्लुक रखते हैं। 

Posted By: Srishti Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस