लंदन (प्रेट्र)। ब्रेकफास्‍ट और डिनर के समय में थोड़ा बदलाव से शरीर का फैट कम हो सकता है। इसके साथ ही मोटापे से संबंधित बीमारियों से भी छुटकारा मिल जाएगा। एक अध्ययन के अनुसार, ब्रेकफास्‍ट और डिनर के खाने के समय में बदलाव करने से शरीर से फैट तो घटेगा ही साथ ही मोटापे और इससे जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम हो सकता है।

ब्रिटेन की सुरे यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों पर दस सप्ताह तक किए अध्ययन के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला है। उन्होंने अध्ययन में शामिल प्रतिभागियों को दो समूहों में बांटा। एक समूह को सुबह का नाश्ता सामान्य समय से 90 मिनट की देरी और रात का खाना 90 मिनट पहले खाने को कहा। जबकि दूसरे समूह को सामान्य समय पर खाने को कहा गया था। शोधकर्ताओं ने दूसरे समूह की तुलना में पहले समूह के लोगों में वसा की मात्रा में औसतन दोगुनी कमी पाई।

उल्‍लेखनीय है कि प्रतिभागियों के भोजन की मात्रा या पदार्थों पर किसी तरह का रोक नहीं था। शोधकर्ताओं के अनुसार, जिन्‍होंने अपने खाने के समय में बदलाव किया उनके भोजन की मात्रा में स्‍वत: ही कमी हो गई थी। क्‍योंकि समय में बदलाव से स्‍नैक्‍स खाने का मौका खत्‍म हो गया।

यह अध्‍ययन जर्नल ऑफ न्‍यूट्रीशनल साइंसेज में प्रकाशित की गई। यूनिवर्सिटी के जोनाथन जॉंसटन ने कहा, ‘खाने के समय में थोड़ा बदलाव से हमारे शरीर को काफी लाभ मिला।’

Posted By: Monika Minal