लंदन, एजेंसियां। भारत की सबसे बड़ी वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया अब ब्रिटेन में निवेश करेगी और वहां भी वैक्सीन बनाएगी। वैक्सीन कारोबार का विस्तार करने के लिए सीरम ब्रिटेन में 24 करोड़ पाउंड (करीब 2400 करोड़ रुपये) का निवेश करेगी। इसके साथ ही वह एक नया बिक्री कार्यालय खोलेगी, जिससे बड़ी संख्या में लोगों को नौकरियां मिलेंगी।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक अरब पाउंड (करीब दस हजार करोड़ रुपये) की भारत-ब्रिटेन व्यापार संवर्धन साझेदारी के तहत यह घोषणा की, जिससे ब्रिटेन में करीब 6,500 नई नौकरियां तैयार होंगी। पुणे स्थित वैक्सीन विनिर्माता के साथ ही लगभग 20 भारतीय कंपनियों ने ब्रिटेन में स्वास्थ्य सेवा, बायोटेक और साफ्टवेयर जैसे क्षेत्रों में महत्वपूर्ण निवेश करने की घोषणा की है।

भारत और ब्रिटेन के बीच व्यापार बढ़ाने को लेकर ब्रिटेन के पीएम बोरिस जानसन और भारत के पीएम नरेंद्र मोदी के बीच एक वर्चुअल बैठक होनी है। माना जा रहा है कि निवेश की यह घोषणा उसी को ध्यान में रखकर की गई है।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ने सोमवार को सीरम की योजनाओं के संदर्भ में कहा कि बिक्री कार्यालय से एक अरब अमेरिकी डालर से अधिक का नया व्यापार तैयार होने की उम्मीद है। इसमें से 20 करोड़ पाउंड (लगभग दो हजार करोड़ रुपये) ब्रिटेन में निवेश किए जाएंगे। बयान में कहा गया कि सीरम का निवेश क्लीनिकल ट्रायल, रिसर्च और डेवलपमेंट और वैक्सीन के विनिर्माण के लिए होगा। इससे ब्रिटेन और दुनिया को कोरोना वायरस महामारी और अन्य घातक बीमारियों को हराने में मदद मिलेगी। सीरम ने पहले ही ब्रिटेन में कोरोना वायरस की नोजल वैक्सीन का परीक्षण शुरू कर दिया है।

प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने एक बयान में कहा कि मुझे बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में एक अन्य भारतीय कंपनी ग्लोबल जीन कार्प द्वारा भी अगले पांच वर्षों के दौरान 5.9 करोड़ पाउंड (लगभग छह सौ करोड़ रुपये) का निवेश किया जाएगा। ग्लोबल जीन के चेयरमैन और सीईओ सुमित जमुआर ने स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में कारोबार की असीम संभावनाओं पर ब्रिटेन में निवेश की योजनाओं पर खुशी जताई।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021