लंदन, एएनआइ। सऊदी अरब ने गुलाम कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान के नक्शे से हटा दिया है। गुलाम कश्मीर के एक कार्यकर्ता अमजद अयूब मिर्जा ने बुधवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। इसके साथ उन्होंने एक तस्वीर भी ट्वीट की जिसके नीचे उन्होंने लिखा, 'सऊदी अरब की ओर से भारत को दिवाली का तोहफा।'

मीडिया रिपोर्टो के मुताबिक, 21-22 नवंबर को अपनी अध्यक्षता में आयोजित हो रहे जी-20 सम्मेलन की यादगार के रूप में सऊदी अरब ने 20 रियाल का बैंक नोट जारी किया है। इस नोट पर छपे दुनिया के नक्शे में गिलगित- बाल्टिस्तान और गुलाम कश्मीर को पाकिस्तान के हिस्से के रूप में नहीं दर्शाया गया है। रिपोर्टो के अनुसार, सऊदी अरब का यह कदम पाकिस्तान को अपमानित करने के प्रयास से कम नहीं है जो खुद को अपने नए ब्लॉक में ढालने की कोशिश कर रहा है।

मालूम हो कि भारतीय विदेश मंत्रालय ने सितंबर में कहा था, उसने तथाकथित गिलगित-बाल्टिस्तान विधानसभा के लिए 15 नवंबर को होने वाले चुनाव के संबंध में रिपोर्टे देखी हैं। मंत्रालय का कहना था, 'भारत सरकार ने पाकिस्तान सरकार के समक्ष कड़ा विरोध जता दिया है और दोहराया है कि तथाकथित गिलगित-बाल्टिस्तान समेत जम्मू-कश्मीर व लद्दाख भारत का अभिन्न अंग हैं।'

इससे पहले इमरान खान सरकार ने पाकिस्तान का नया राजनीतिक नक्शा जारी किया था जिसमें उसने भारत में गुजरात के जूनागढ़, सर क्रीक और माणावदर; जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के एक हिस्से पर दावा किया था। पाकिस्तान सरकार ने यह नक्शा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने की पहली वर्षगांठ के बाद जारी किया था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021