लंदन, एपी। गूगल (Google) ने ब्रिटिश नियामकों को आश्वस्त किया है कि वह अपनी एड ट्रैकिंग टेक्नोलॉजी (ad-tracking technology) को चरणबद्ध तरीके से वापस ले लेगा। यह टेक्नोलॉजी गूगल के क्रोम ब्राउजर पर लागू है। ब्रिटेन का कंप्टीशन वाचडॉग इस समय गूगल के थर्ड पार्टी कुकीज मसले की जांच कर रहा है। प्रतियोगी कंपनियों की शिकायत है कि गूगल की यह टेक्नोलॉजी डिजिटल एड कंप्टीशन को नुकसान पहुंचा रही है।

गूगल ने शुक्रवार को कंप्टीशन एंड मार्केट अथॉरिटी को आश्वासन दिया कि वह इस तकनीक को हटाकर उसके स्थान पर अन्य तकनीक को लागू करेगी। वाचडॉग की प्रमुख एंड्रिया कोसेली ने कहा है कि गूगल की इस टेक्नोलॉजी ने दुनिया भर की कंप्टीशन अथॉरिटी के लिए मुश्किलें पैदा कर दी हैं। कंपनी से कहा गया है कि वह बाजार में प्रतियोगिता की स्थिति बनी रहने दे जिससे उपभोक्ता के हित सर्वोपरि बने रहें। इसके लिए कंपनी अपने आचरण में बदलाव लाए।                                                                                    

गूगल की तरफ से किए गए वादों में पर्याप्त सीमाएं भी शामिल हैं कि कैसे गूगल डिजिटल विज्ञापन उद्देश्यों के लिए व्यक्तिगत उपयोगकर्ता डेटा का उपयोग और संयोजन करेगा और नई तकनीक के साथ अपने स्वयं के विज्ञापन व्यवसायों के पक्ष में प्रतिद्वंद्वियों के साथ भेदभाव नहीं करेगा। कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि अगर गूगल की प्रतिबद्धताओं को स्वीकार कर लिया जाता है, तो उन्हें विश्व स्तर पर लागू किया जाएगा।

Edited By: Manish Pandey