लंदन, एपी। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की मुसीबत उनके एक वरिष्ठ सहयोगी ने कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण लागू लॉकडाउन का उल्लंघन करके बढ़ा दी है। जॉनसन इस मुद्दे से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रहे हैं, लोकिन वो इसमें सफल नहीं हो पा रहे है। लोगों की नाराजगी का आलम यह है कि ब्रिटिश सरकार ने लॉकडाउन में और छूट देने की घोषणा देने की कोशिश की, लेकिन यह मद्दा उसपर भी भारी पड़ गया। लोग लगातार जॉनसन की आलोचना कर रहे हैं।    

क्या है मामला

गौरतलब है कि पिछले दिनों जॉनसन के सहयोगी डॉमिनिक कमिंग्स लंदन में अपने घर से 400 किलोमीटर दूर ड्राइव करके अपने माता-पिता के घर पहुंचे और वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे। जॉनसन ने कहा कि कमिंग्स ने ऐसा अपने चार साल के बच्चे के लिए किया। लोग इसे सरकार के 'स्टे एट होम' के आदेश के स्पष्ट उल्लंघन के रूप में देख रहे हैं। 

लोग सरकार पर विश्वास कम करेंगे

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार एक सामाजिक मनोवैज्ञानिक स्टीफन रैचर ने कहा कि इससे लोगों की मौत में इजाफा है सकता है। इस प्रकरण के कारण लोग सरकार पर विश्वास कम करेंगे और लॉकडाउन के नियमों को हल्के में लेंगे। लीड्स निक बेंस के बिशप ने कहा कि संरक्षण और इलाज के नाम पर लोगों से झूठ बोला गया। 

ब्रिटेन कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित यूरोपीय देश

बता दें कि ब्रिटेन कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित यूरोपीय देश है। यहां दो लाख 59 हजार से ज्यादा मामले सामने आ गए हैं। 36 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।  यूरोप में 18 लाख 71 हजार मामले सामने आए हैं। एक लाख 69 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।  दुनियाभर में 54 लाख से ज्यादा मामले सामने आ गए हैं और तीन लाख 43 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।

 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस