इस्लामाबाद (रायटर/आइएएनएस)। अमेरिका ने परमाणु कारोबार से जुड़े होने के संदेह में पाकिस्तान की सात कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इस फैसले से परमाणु आपूर्ति समूह (एनएसजी) में शामिल होने की पाकिस्तान की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है।

अमेरिकी वाणिज्य विभाग के उद्योग एवं सुरक्षा ब्यूरो ने 22 मार्च को इन कंपनियों को प्रतिबंध सूची में शामिल किया। अमेरिकी सरकार की वेबसाइट पर जारी रिपोर्ट में ब्यूरो ने कहा कि ये कंपनियां अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति के हितों के विपरीत काम करने वाली पाई गईं। सूची में कुल 23 कंपनियों को शामिल किया गया जिनमें पाकिस्तान के अलावा दक्षिण सूडान की 15 और सिंगापुर की एक कंपनी शामिल है।

वाणिज्य विभाग की प्रतिबंध सूची में शामिल होने पर कंपनी की संपत्ति जब्त नहीं की जाती लेकिन कंपनी को अमेरिका और विदेशी कंपनियों के साथ व्यापार करने से पहले लाइसेंस प्राप्त करना होता है। कंपनियों को अमेरिका में व्यापार करने के लिए विशेष लाइसेंस की जरूरत होती है। सूची में शामिल सात पाक कंपनियां हैं-मुशको इलेक्ट्रॉनिक्स, सॉल्यूशंस इंजीनियरिंग, अख्तर एंड मुनीर, प्रोफिशिएंट इंजीनियर्स, परवेज कमर्शियल ट्रेडिंग कंपनी, मरीन सिस्टम्स और इंजीनियरिंग एंड कमर्शियल सर्विसेज।

इन कंपनियों पर सूची में पहले से प्रतिबंधित कंपनियों के लिए खरीदारी और आपूर्ति करने के आरोप हैं। गौरतलब है कि पाकिस्तान ने 2016 में एनएसजी में शामिल होने के लिए आवदेन किया है, लेकिन इस पर कोई प्रगति नहीं हुई है। एनएसजी परमाणु सामग्री की आपूर्ति और स्थानांतरण को नियंत्रण करने वाला 48 देशों का संगठन है।

 

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस