मॉस्को, एएफपी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन को चेतावनी देते हुए किसी उकसावे वाले कदम से बचने की सलाह दी है। पुतिन ने यूक्रेन की संसद में मार्शल लॉ का प्रस्ताव पारित होने पर यह चेतावनी दी। रूस द्वारा तीन नौसैनिक जहाजों को जब्त किए जाने के बाद यूक्रेन में मार्शल लॉ लागू किया गया है। यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको ने देश में 30 दिन के लिए मार्शल लॉ लागू करने का प्रस्ताव रखा था।

रविवार को क्रीमिया के तट पर रूस ने यूक्रेन के तीन नौसैनिक जहाजों पर गोलीबारी करते हुए उन्हें जब्त कर लिया था। तब से दोनों देशों में तनातनी की स्थिति बनी हुई है। हाल के वर्षो में दोनों देशों के बीच यह सबसे बड़ा टकराव माना जा रहा है। इसी की प्रतिक्रिया में यूक्रेन ने मार्शल लॉ लागू किया है। मार्शल लॉ लागू होने के बाद यूक्रेन के अधिकारियों को सैन्य अनुभव रखने वाले नागरिकों को संगठित करने, मीडिया को नियंत्रित करने और प्रभावित क्षेत्र में सार्वजनिक रैलियों को प्रतिबंधित करने का अधिकार मिल गया है।

रूस का कहना है कि अगले साल होने जा रहे चुनावों को ध्यान में रखते हुए यूक्रेन रविवार को हुए टकराव को राष्ट्रपति पोरोशेंको के पक्ष में भुनाना चाहता है। वह पश्चिमी देशों को बहकाकर रूस पर और प्रतिबंध लगाने के लिए मनाने की कोशिश कर रहा है। बयान के मुताबिक, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल से फोन पर हुई बातचीत में पुतिन ने यूक्रेन में मार्शल लॉ लागू होने पर चिंता जताई। उन्होंने उम्मीद जताई की जर्मनी इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए यूक्रेन को कोई उकसावे वाली कार्रवाई करने से रोकेगा।

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस