बेरुत, एजेंसी । रूस के हवाई हमलों में पांच नागरिकों की मौत हो गई। सीरिया का यह क्षेत्र विद्रोहियों के कब्जे वाला है। सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि इस रूसी हमलों में इदलिब के जिहादी और विद्रोही बहुल उत्तर-पश्चिमी प्रांत के किनारे जबाल अल-ज़ाविया क्षेत्र को निशाना बनाया गया। इसके पूर्व जनवरी माह के अंतिम सप्‍ताह में उत्तर-पश्चिमी सीरिया में रूस के हवाई हमले में कम से कम 23 नागरिकों की मौत हो गई थी। यह क्षेत्र विद्रोहियों के कब्जे वाला है। 

बता दें कि इदलिब में हिंसा कम करने का कूटनीतिक प्रयास अब तक नाकाम रहा है। इदलिब के बड़े हिस्से पर राष्ट्रपति बशर अल असद के विद्रोही गुटों का कब्जा है। इनमें एक समूह अल कायदा का सीरिया शाखा भी शामिल है। सीरिया में जारी खूनी संघर्ष रोकने के मकसद से पिछले हफ्ते रूस और तुर्की ने मिलकर इस संघर्ष विराम की घोषणा की थी, जो बीते कुछ दिनों से प्रभावी हुआ था। 

बता दें कि उत्तर पश्चिमी सीरिया के दक्षिण इदलिब क्षेत्र में पिछले महीने भी भारी बमबारी हुई थी, जिसके बाद हजारों नागरिकों ने इलाके को छोड़ दिया था। बता दें कि दक्षिणी इदलिब में 16 दिसंबर, 2019 के बाद से एयर स्‍ट्राइक में तेजी आई। इसके बाद दक्षिण इदलिब के मारेत अल-नुमान इलाके से हजारों नागरिकों के उत्तरी प्रांत की पलायन किया। सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमैन राइट्स की मानें तो इदलिब में सीरियाई सेना और सशस्त्र समूहों के बीच झड़पों में दिसंबर, 2019 में महज एक दिन में 80 से अधिक लोग मारे गए थे।

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस