तेहरान (आईएएनएस)| रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के राजदूत अलेक्जेंडर लावरेंटिएव ने यहां गुरुवार को कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति द्वारा ईरान पर लगाए गए एकतरफा प्रतिबंध को 2015 के परमाणु समझौते के उल्लंघन के तौर पर मानते हैं।

समाचार एजेंसी तसनीम ने लावरेंटिएव के हवाले से कहा कि पुतिन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ अपनी हालिया वार्ता में तेहरान पर लगाए गए, एकपक्षीय प्रतिबंधों की निंदा करते हुए इसे हानिकारक और असंवैधानिक बताया। लावरेंटिएव ने गुरुवार को ईरान की सुप्रीम नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल (एसएनएससी) के उपसचिव सईद इरवानी के साथ बैठक के दौरान टिप्पणी की। उन्होंने फिनलैंड की राजधानी हेलसिंकी में पुतिन और उनके अमेरिकी समकक्ष के बीच हुए हालिया शिखर सम्मेलन सहित कई मुद्दों के बारे में ईरानी पक्ष को बताया।

इरवानी ने रूस के राष्ट्रपति के शिखर सम्मेलन के बाद ईरान में अपने विशेष दूत को भेजने के लिए आभार व्यक्त किया और इसे रणनीतिक सहयोग के लिए दोनों देशों की प्रतिबद्धता के स्पष्ट संकेत के रूप में रेखांकित किया। उन्होंने कहा, 'अमेरिकी एकपक्षवाद और गैर प्रतिबद्धता पर रूसी राष्ट्रपति का सिद्धांत और दृढ़ रुख अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के प्रति रूस की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।' 

हेलसिंकी में 16 जुलाई को ट्रंप और पुतिन के बीच 90 मिनट से अधिक समय तक बैठक हुई। बैठक से पहले ईरानी सुप्रीम लीडर के अंतर्राष्ट्रीय सलाहकार अली अकबर वेलयती ने मॉस्को का दौरा किया था और पुतिन के साथ बातचीत की थी।

Posted By: Monika Minal