मॉस्को, एएफपी। रूस ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation- WHO) को अमेरिका की तरफ से दी गई धमकी की आलोचना की है। रूस ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा डबल्यूएचओ से यूएस को बाहर निकालने की धमकी की निंदा की है। बता दें कि अमेरिका कोरोना को लेकर लगातार डबल्यूएचओ पर हमलावर रहा है। रूस ने कहा है कि एक देश के राजनीतिक हितों के लिए हम सबकुछ बर्बाद नहीं कर सकते हैं।

न्यूज एजेंसी इंटरफैक्स के मुताबिक रूस के उपविदेश मंत्री सर्गेई रयाबकोव (Sergei Ryabkov) ने कहा, "हां यहां कुछ सुधार करने की जरूरत है... और इस काम में एक सक्रिय रोल निभाने के लिए हम पहले की तरह तैयार हैं।" उन्होंने आगे कहा कि लेकिन एक देश के राजनीतिक हितों के लिए हम सबकुछ बर्बाद नहीं कर सकते हैं।

रयाबकोव ने स्टेट न्यूज एजेंसी रिया नोवोस्ती (RIA Novosti) से कहा कि वह कोरोना से जुड़े हर मुद्दे को राजनीतिक रूप देने के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनााल्ड ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ पर वैश्विक कोरोनावायरस प्रतिक्रिया और "चीन की कठपुतली" होने का आरोप लगाया है। उन्होंने चीन पर कोरोना की शुरूआती स्थिति को छुपाने का भी आरोप लगाया है जिसका परिणाम आज पूरी दुनिया भुगत रही है।

रूस में 3 लाख से ऊपर पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के मुताबिक देश में संक्रमितों की संख्या 308,705 हो गई है। हालांकि रूस में अन्य देशों की अपेक्षा मौतों का आंकड़ा काफी कम है। यहां कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 2 हजार 9 सौ 72 हो चुकी है।

इसके अलावा एक और अच्छी बात यह है कि देश में हर रोज काफी संख्या में मरीज इस संक्रमण से ठीक भी हो रहे हैं। पिछले 24 घंटों में रूस में 9,262 मरीज इसके संक्रमण से ठीक हो चुके हैं जबकि अभी तक कुल 85 हजार 3 सौ 92 मरीज ठीक हुए हैं।

 

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस