मॉस्को, आइएएनएस। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि नई हाइपरसोनिक मिसाइल प्रणाली तैनाती के लिए तैयार है। यह अगले साल से काम करना शुरू कर देगी। रूस का दावा है कि अमेरिका के पास इस मिसाइल की कोई काट नहीं है।

रूस की सरकारी न्यूज एजेंसी तास ने बुधवार को पुतिन के हवाले से कहा, दक्षिण-पश्चिम रूस के डोंबरावस्की सैन्य एयरबेस से एवनगार्ड हाइपरसोनिक मिसाइल का परीक्षण किया गया। यह प्रणाली अगले साल की शुरुआत से काम करना शुरू कर देगी। रूस नए तरह के रणनीतिक हथियार को हासिल करने वाला दुनिया का पहला देश है। यह हमारे देश और लोगों की सुरक्षा की विश्वसनीयता को सुनिश्चित करेगी।'

मिसाइल की खासियत

-एवनगार्ड हाइपरसोनिक मिसाइल अंतरमहाद्वीपीय मारक क्षमता वाली है

-यह मैक 20 या 15 हजार मील प्रति घंटे की गति पाने में सक्षम है

-लक्ष्य के करीब पहुंचने के दौरान किसी खतरे से बचने के लिए यह अपनी ऊंचाई और दिशा दोनों बदल सकती है

-इंटरसेप्टर्स से बचने के लिए यह कम ऊंचाई पर भी उड़ान भरने में सक्षम है

अमेरिका के पास इस हथियार को पकड़ने की क्षमता नहीं
अमेरिका की रणनीतिक कमान के प्रमुख जनरल जॉन हेटेन इस मिसाइल को लेकर पहले ही चिंता जाहिर कर चुके हैं। उन्होंने आगाह किया था, 'मिसाइल का पता लगाने वाले अमेरिका के मौजूदा सेटेलाइट और रडार एवनगार्ड जैसे हथियारों का पता लगाने में सक्षम नहीं हैं। इस तरह के हाइपरसोनिक खतरों का पता लगाने के लिए हमें विभिन्न प्रकार के नए सेंसर की जरूरत है।'

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस