मॉस्को, एएफपी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय जांच में ऐसा कोई सुबूत नहीं मिला है जिससे साबित होता हो कि 2014 के विमान हादसे में रूस का हाथ था। यूक्रेन के आकाश में मलेशिया एयरलाइंस के विमान पर मिसाइल से हमला हुआ था जिसमें चालक दल के सदस्यों समेत सभी 298 लोग मारे गए थे। आरोप है कि विमान पर मिसाइल रूस समर्थित यूक्रेनी विद्रोहियों ने दागी थी। अंतरराष्ट्रीय जांच में तीन रूसियों और एक यूक्रेनी नागरिक को हमले के लिए आरोपित किया गया है।

संवाददाताओं से बात करते हुए पुतिन ने कहा, रूस को अपराध के लिए जिम्मेदार ठहराना पूरी तरह गलत है। जांचकर्ताओं को रूस के खिलाफ कोई सुबूत नहीं मिला है। पुतिन ने घटना के लिए यूक्रेन के अधिकारियों को जिम्मेदार बताया है। रूसी राष्ट्रपति ने पूछा, विमान को सैन्य क्षेत्र में किसने भेजा था ? क्या उसके लिए भी रूस जिम्मेदार है ?

इस बीच जांचकर्ताओं ने पुतिन के सहायक व्लादिस्लाव सुरकोव और एक अलगाववादी नेता एलेक्जेंडर बोरोदाई के बीच फोन पर हुई बातचीत का टेप जारी किया है। इसमें अलगाववादियों के लिए नए हथियारों की मांग की जा रही है। इसी बातचीत को आधार बनाकर जांचकर्ताओं ने दावा किया है कि रूस ने विद्रोहियों को बीयूके मिसाइल दी थी जिसका इस्तेमाल मलेशियाई विमान को गिराने के लिए किया गया।

मलेशियाई पीएम ने कहा, जांच राजनीति से प्रेरित
अंतरराष्ट्रीय जांच पर मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मुहम्मद ने हैरत में डालने वाली प्रतिक्रिया दी है। कहा है कि नीदरलैंड्स की अगुआई वाली जांच के निष्कर्ष हास्यास्पद और राजनीति से प्रेरित हैं। रूस के खिलाफ जान-बूझकर जांच को मोड़ा गया। इस पर नीदरलैंड्स के प्रधानमंत्री मार्क रूट ने कहा है कि महातिर भ्रम पैदा कर किसी को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि घटना में सबसे ज्यादा लोग नीदरलैंड्स के ही मारे गए थे।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस