व्लादिवोस्तोक, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस में एक कार्यक्रम के दौरान सादगी की मिसाल पेश की। प्रधानमंत्री ने इस कार्यक्रम में अपने लिए की गई विशेष व्‍यवस्‍था के तहत रखे गए सोफे को हटवाकर सामान्‍य कुर्सी पर बैठने की इच्‍छा जाहिर की। केंद्रीय मंत्री ने इस बात की जानकारी देते हुए अपने ट्विटर हेंडलर से एक वीडियो शेयर किया है। शेयर किए गए वीडियो में सोफे की जगह कुर्सी की व्‍यवस्‍था किए जाने दृश्‍य दिखाई दे रहा है।

दरअसल, यह कार्यक्रम विशेष रूप से फोटो सेशन के लिए होना था। इसमें प्रधानमंत्री जब पहुंचे तो उन्‍होंने देखा कि उनके लिए सोफे की व्‍यवस्‍था की गई थी जबकि अन्‍य अधिकारियों के लिए कुर्सियों का बंदोबस्‍त था। सादगी पसंद प्रधानमंत्री मोदी को यह अटपटा लगा और उन्‍होंने खुद के लिए रखे गए एक विशाल सोफे को अस्वीकार करते हुए दूसरों के साथ एक कुर्सी पर बैठने का विकल्प चुना। इसके बाद सोफे को हटाकर प्रधानमंत्री के लिए कुर्सी का इंतजाम किया गया। 

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अपने ट्वीट में लिखा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की सरलता का उदाहरण आज पुनः देखने को मिला। उन्होंने रूस में अपने लिए की गई विशेष व्यवस्था को हटवा कर अन्य लोगों के साथ सामान्य कुर्सी पर बैठने की इच्छा जाहिर की।' रेल मंत्री पीयूष गोयल द्वारा किया गया यह ट्विट तेजी से वायरल हो रहा है। एक ट्विटर यूजर ने लिखा, 'कितनी प्‍यारी मिसाल है, कोई शब्द नहीं है इस सादगी के लिए।' एक अन्‍य यूजर ने लिखा, 'हमारे पास एक विनम्र और शांत प्रधानमंत्री हैं।' 

एक अन्‍य यूजर ने लिखा, 'मोदीजी की सादगी ही उन्‍हें विश्व बिरादरी में सबसे सम्मानित और शक्तिशाली नेता बनाती है। दृढ़ विश्वास, स्पष्टता जिसके साथ वह पेश आते हैं। वह जानते हैं कि राष्‍ट्र के लिए सबसे अच्छा क्‍या है। वह अच्‍छे और भले लोगों के लिए नरम दिल इंसान हैं लेकिन जो लोग भारत को नुकसान पहुंचाने की मंशा रखते हैं, उनके वे बहुत कठोर हैं। नरेंद्र मोदी सही मायने में हमारे पीएम हैं।' 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप