व्लादिवोस्तोक एनआई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को अपने जापानी समकक्ष शिंजो आबे से मुलाकात की और दोनों नेताओं ने आर्थिक और रक्षा क्षेत्रों सहित कई क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने का संकल्प लिया। जानकारी के लिए बता दें कि पीएम मोदी दो दिवसीय यात्रा पर रूस पहुंचे हैं। वह ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम में शामिल होंगे इसी के इतर दोनों नेताओं की मुलाकात हुई। 

रूसी सुदूर पूर्व क्षेत्र की यात्रा करने वाले वह पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। प्रधानमंत्री मोदी और आबे के बीच हुई ये बैठक जापान में ओसाका में जी -20 शिखर सम्मेलन और फ्रांस में जी 7 शिखर सम्मेलन के मौके पर हुई बैठक के बाद हुई है। 

पिछले तीन महीनों में दोनों नेताओं ने तीन बार मुलाकात की है। जून में दोनों नेताओं ने ओसाका में जी -20 शिखर सम्मेलन में बातचीत की जबकि अगस्त में बिअरिट्ज़ में जी 7 शिखर सम्मेलन में वे फिर से आमने-सामने आए थे। आबे के साथ अपनी बैठक के बाद पीएम मोदी मलेशिया के प्रधानमंत्री महाथिर बिन मोहम्मद और मंगोलिया के राष्ट्रपति कतलमागीन बत्तूगा के साथ द्विपक्षीय वार्ता की।

मोदी बुधवार को 20 वें भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन और पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की पांचवीं बैठक में भाग लेने के लिए रूस पहुंचे हैं। उनके आने पर यहां व्लादिवोस्तोक अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर मिला।

 

इन दोनों की मुलाकात पर विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि यह (इंडो-पैसिफिक) एक ऐसा मुद्दा है जिस पर जापान-भारत समान विचार साझा करते हैं।

ये भी पढ़ें: PM Modi in Russia live: EEF में शामिल होने से पहले वैश्विक नेताओं से की मुलाकात

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस