मॉस्‍को, रॉयटर्स। अमेरिका में राष्‍ट्रपति चुनाव जीतने के बाद भी डेमोक्रेटिक जो बाइडन की राह साफ नहीं हुई है। अब रूस के राष्‍ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin) ने भी कहा है कि जब तक वैध तरीके से विजेता के नाम का ऐलान नहीं होगा तब तक वे बाइडेन को अमेरिकी राष्‍ट्रपति के तौर पर स्‍वीकार नहीं करेंगे।

बाइडन को पुतिन ने अब तक नहीं दी बधाई

रूसी न्‍यूज एजेंसी के अनुसार, रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन ने रविवार को कहा कि वे किसी भी अमेरिकी नेता के साथ काम करने के लिए तैयार हैं और अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव (U.S. presidential election) का जो भी विजेता होगा उसे बधाई देंगे। बाइडन को जीत की बधाई देने में देर करने वाले पुतिन सवालों के घेरे में थे कि उन्‍होंने अब तक बाइडेन को बधाई क्‍यों नहीं दी है। इसका जवाब आखिरकार पुतिन ने दे ही दिया। रूसी राष्‍ट्रपति का कहना है कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव के परिणाम को लेकर एक बार सभी वैध औपचारिकताएं पूरी हो जाएं उसके बाद जो भी विजेता होगा उन्‍हें शुभकामनाएं देंगे।

अमेरिकी जनता का विश्‍वास जीतने वाले के साथ रूस

स्‍थानीय मीडिया से बात करते हुए पुतिन ने कहा, 'अमेरिकी जनता का विश्‍वास जिस भी नेता के साथ होगा उसके साथ हम काम करने को तैयार हैं।' उन्‍होंने यह भी शर्त रखी कि चुनाव में विजेता का नाम या तो विपक्षी पार्टी की ओर से दिया जाना चाहिए या फिर चुनाव के परिणाम का ऐलान वैध तरीके से होना चाहिए। बता दें कि इससे पहले क्रेमलिन (Kremlin) ने कहा था कि वह अमेरिकी चुनाव के आधिकारिक परिणाम का इंतजार करेगा।

वर्ष 2016 के राष्‍ट्रपति चुनाव के मद्देनजर अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने आरोप लगाया है कि रूस ने डोनाल्‍ड ट्रंप की जीत में मदद की थी। इस एंगल से देखें तो बाइडन की जीत रूस की चिंता का कारण है, क्‍योंकि उसका मानना है कि बाइडन के राष्‍ट्रपति बनने पर उस पर और ज्‍यादा प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। पुतिन ने कहा कि रूस का बाइडेन को बधाई देना केवल एक 'औपचारिकता' है और इसका कोई गलत इरादा नहीं है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021