मॉस्को, एएफपी। जलवायु परिवर्तन के संकट पर अपने भाषण से पूरे विश्व को झकझोरने वाली ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) की आलोचना का अनोखे ढंग से जवाब दिया है। इस हफ्ते मॉस्को में हुए सम्मेलन में पुतिन ने कहा था कि ग्रेटा जरूर एक दयालु और नेक लड़की हैं, लेकिन शायद उन्हें किसी ने बताया नहीं कि दुनिया तेजी से विकसित हो रही है।

इसके जवाब में स्वीडन से ताल्लुक रखने वाली 16 वर्षीय पर्यावरण कार्यकर्ता ने माइक्रोब्लागिंग साइट पर अपनी बॉयोग्राफी बदल दी। अपने नए बॉयो में उन्होंने लिखा है, 'एक दयालु, लेकिन कम जानकारी वाली नाबालिग।'

बीते महीने संयुक्त राष्ट्र में ग्रेटा ने जलवायु संकट पर कुछ ना करने के लिए दुनियाभर के नेताओं को कठघरे में खड़ा किया था। उन्होंने नेताओं पर उनका बचपन व सपने छीनने का आरोप लगाया था। इस बयान को लेकर बुधवार को पुतिन ने कहा कि वह ग्रेटा के भाषण पर अन्य जैसा महसूस नहीं करते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि पर्यावरण के मुद्दे पर आवाज उठाने वाले युवा तारीफ के हकदार हैं। साथ ही आशंका जताई कि कुछ लोग अपने फायदे के लिए उनका इस्तेमाल कर रहे हैं। ग्रेटा ने अपना बॉयो बदलकर उन्हें जवाब दे दिया।

ट्रंप ने भी उड़ाया था ग्रेटा का मजाक

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी ग्रेटा का मजाक उड़ाने की कोशिश की थी। उन्होंने ट्वीट किया था, 'वह एक बहुत ही खुश युवा लड़की लगती है, जिन्हें उज्ज्वल भविष्य का इंतजार है। इसके जवाब में भी ग्रेटा ने अपना ट्विटर बॉयो बदल लिया था। तब उन्होंने लिखा था, 'बहुत खुश लड़की जो उज्ज्वल भविष्य के इंतजार में है।' बता दें कि ट्विटर पर ग्रेटा के 27 लाख फॉलोअर हैं और वह इस साल नोबेल शांति पुरस्कार की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं।

अपनी मांग लेकर आयोवा पहुंचीं ग्रेटा

दुनियाभर के नेताओं से जलवायु संकट पर सख्त कदम उठाने की मांग कर रही ग्रेटा शुक्रवार को आयोवा सिटी पहुंचीं। दिसंबर में चिली में होने वाले जलवायु सम्मेलन से पहले वह पर्यावरण संकट के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए उत्तर अमेरिका की यात्रा पर हैं। इसी के मद्देनजर वह आयोवा सिटी पहुंची हैं। 2020 में होने वाला अमेरिका का राष्ट्रपति चुनाव आयोवा से ही शुरू होने वाला है।

यह भी पढ़ें: कश्मीर पर तुर्की और मलेशिया के बयान की भारत ने की निंदा, जानें क्‍या कहा

यह भी पढ़ें: ई-सिगरेट को लेकर सरकार सख्त, राज्यों को स्कूल-कॉलेज में मासिक निरीक्षण का आदेश

यह भी पढ़ें: अगले सत्र से सभी मेडिकल कॉलेजों में MBBS में प्रवेश के लिए होगी एक परीक्षा

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप