नई दिल्ली,एएनआइ। दुनियाभर में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को अगले 48 घंटों में नेटवर्क फेल्योर का अनुभव हो सकता है। इसकी वजह मेन डोमेन सर्वर का रूटीन मैंटेनेंस बताया जा रहा है।

रसीया टुडे ने बताया कि वैश्विक इंटरनेट उपयोगकर्ता, नेटवर्क कनेक्शन फेल्योर का अनुभव कर सकते हैं, क्योंकि मेन डोमेन सर्वर और इसके संबंधित नेटवर्क कुछ समय के लिए स्लो हो जाएंगे। 

इंटरनेट कॉर्पोरेशन ऑफ असाइन नेम्स एंड नंबर (आईसीएएनएएन) की मैंटेनेंस वर्क के दौरान क्रिप्टोग्राफिक की बदली जाएगी, जो डोमेन नेम सिस्टम (डीएनएस) या इंटरनेट की एड्रेस बुक की सुरक्षा में मदद करता है।  

एक बयान में आईसीएएनएएन ने कहा कि एक सुरक्षित, स्थिर और लचीला डीएनएस सुनिश्चित करने के लिए ग्लोबल इंटरनेट शटडाउन आवश्यक है। इससे कुछ इंटरनेट उपयोगकर्ता अगर उनके नेटवर्क ऑपरेटर या इंटरनेट सेवा प्रदाता (आईएसपी) इस बदलाव के लिए तैयार नहीं हैं तो वे प्रभावित हो सकते हैं। हालांकि, सिस्टम सिक्योरटी को अनेबल करके इस प्रभाव से बचा जा सकता है।

इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को वेबपेज को खोलने  या अगले 48 घंटों में कोई लेनदेन करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, यदि उपयोगकर्ता पुरानी आईएसपी का उपयोग करते हैं तो उपयोगकर्ताओं को वैश्विक नेटवर्क तक पहुंचने में असुविधा का सामना करना पड़ सकता है।

Posted By: Tanisk