मॉस्को, एएफपी। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) के रूसी लड़ाकों के 30 बच्चे रविवार को बगदाद से रूस की राजधानी मॉस्को पहुंचे। तीन से दस साल तक की उम्र के इन बच्चों के पिता इराक में तीन साल तक चली जंग में मारे गए। आइएस से जुड़े होने के कारण इनकी मां इराक की जेलों में कैद हैं।

आइएस से प्रभावित होकर उसके समर्थन में लड़ने के लिए बड़ी संख्या में रूस के मुस्लिम नागरिक इराक पहुंचे थे। इनकी संख्या हजारों में थी। कुछ अपने साथ अपने परिवार भी ले गए थे। चेचेन नेता रमजान कादीरोव के अनुसार, 'रूस के आपातकालीन मंत्रालय का एक विमान इन बच्चों को लेकर रविवार को मॉस्को के झुकोवस्की एयरपोर्ट पर उतरा।

बच्चों का रूस पहुंचना राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के अथक प्रयासों का नतीजा है। अगर इन्हें लाया नहीं जाता तो ये विदेशी एजेंसियों का निशाना बन जाते।' इन्हीं प्रयासों के तहत पिछले साल भी करीब 100 महिलाएं और बच्चे इराक से रूस पहुंचे थे। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021