इस्लामाबाद, आइएएनएस। पाकिस्तान में पीएम इमरान खान के इस्तीफे की मांग को लेकर चलाए रहे आजादी मार्च की अगुवाई कर रहे जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम-फ़ज़ल (JUI-F) के प्रमुख मौलाना फ़ज़लुर रहमान ने इमरान खान के खिलाफ जंग जारी रखने का ऐलान कर दिया है। पाकिस्तान में रविवार को 11वें दिन आजादी मार्च जारी रहा। इस दौरान मौलाना ने रविवार को सिट-ऑफ के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा, 'युद्ध जारी रहेगा। हम पीछे नहीं हट सकते। सभी राजनीतिक दल हमारे संपर्क में हैं।'

डॉन न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, रहमान ने कहा कि जब उन्होंने बात की थी, तब भी विपक्षी दल कार्रवाई के अगले कदम के लिए बात कर रहे थे। मौलाना ने कहा कि कहा कि हम सभी नेताओं के साथ विचार-विमर्श के बाद आगे बढ़ेंगे। उन्होंने दोहराया कि इमरान खान सरकार ने अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है।

मौलाना ने सवाल किया कि वह(इमरान खान) अर्थव्यवस्था पर ध्यान देने में पूरी तरह से विफल रहे हैं। बीते साल गेहूं के उत्पादन में 30 फीसदी की कमी आई है। इसी तरह चावल के उत्पादन में 30-40 फीसदी की गिरावट आई है। जेयूआई-एफ सुप्रीमो ने कहा कि 15 लाख गांठ कपास लक्ष्य में से केवल 8 प्रतिशत का लक्ष्य हासिल किया गया।

इस बीच, JUI-F ने प्रदर्शनकारियों को सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी रखने के लिए खाद्य आपूर्ति की है। आपूर्ति में अन्य आवश्यक खाद्य सामग्रियों के अलावा दाल, चीनी, चाय की पत्ती, स्पष्ट मक्खन और नमक शामिल हैं।

आपूर्ति को सोमवार को पूरे विरोध शिविर में वितरित किए जाने की उम्मीद थी। बड़े पैमाने पर 'आजादी मार्च' का नेतृत्व करने वाले रहमान ने प्रधानमंत्री खान के इस्तीफे की मांग करते हुए 2018 के आम चुनावों में धांधली का आरोप लगाया।

तो फिलहाल पाकिस्तान में आजादी मार्च जारी है। इसके आने वाले वक्त में और ज्यादा तेज होने की उम्मीद है। पाकिस्तान में आने वाले दिनों में पीएम इमरान खान के इस्तीफे की मांग और तेज हो सकती है।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस