लाहौर, प्रेट्र: पाकिस्तान पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की छानबीन करने के बाद लाहौर के व्यस्त बाजार में हुए शक्तिशाली बम विस्फोट मामले के तीन संदिग्धों की शुक्रवार को पहचान कर ली है। पुलिस को संदेह है कि इन्हीं लोगों ने शक्तिशाली बम विस्फोट की घटना को अंजाम दिया था। भारतीय उत्पादों की बिक्री के लिए मशहूर अनारकली मार्केट में पान मंडी के समीप गुरुवार दोपहर बाद 1:45 बजे हुए विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 28 अन्य घायल हो गए।

सीसीटीवी से हुई संदिग्धों की पहचान

विस्फोट में कई मोटरसाइकिलें, वेंडर स्टाल क्षतिग्रस्त हो गए और दुकानों एवं भवनों की खिड़कियों के कांच भी टूट गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि सीसीटीवी फुटेज में तीन संदिग्धों में से एक को विस्फोटकों से भरा बैग रखते देखा गया है। अन्य दो एक-दूसरे से तालमेल बनाए रख रहे थे। जल्दी ही पुलिस संदिग्धों तक पहुंच जाएगी।

विस्फोट के बाद नहीं मिला उचित इलाज

विस्फोट में घायल कराची निवासी नौ साल के बच्चे अबसार की जान चली गई। उसके चाचा ने कहा कि अस्पताल में उसे उचित इलाज मुहैया नहीं कराया जा सका। नाजुक हालत में बच्चे को अस्पताल लाया गया था लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका।

पीएम ने दिए थे बेहतर इलाज के निर्देश

प्रधानमंत्री इमरान खान ने वारदात की निंदा करते हुए, घायलों को बेहतर इलाज उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे। उन्होंने पंजाब सरकार से घटना के संबंध में रिपोर्ट भी मांगी है।

टेक्स्ट संदेश भेज ली विस्फोट की जिम्मेदारी

रायटर के मुताबिक, बलूचिस्तान की आजादी की वकालत करने वाले एक नवगठित संगठन ने उसे टेक्स्ट संदेश भेजकर विस्फोट की जिम्मेदारी ली है। लाहौर के उपायुक्त उमर शेर चत्था ने बताया कि विस्फोटक को एक बैंक क्षेत्र में मोटरसाइकिल में रखा गया था। पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदर ने पुलिस महानिरीक्षक को घटना की रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि अपराधियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

Edited By: Amit Singh