लाहौर [ प्रेट्र ]। मुंबई आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने आज कड़ी सुरक्षा के बीच पाकिस्‍तान के गद्दाफी स्टेडियम में ईद-उल-फितर की नमाज अदा की। इस मौके पर उसने एक बार फ‍िर भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला। उसने कश्‍मीर में उपद्रवियों को अपना समर्थन देने की बात दोहराई। बता दें कि पाकिस्तान सरकार ने सईद के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा को प्रतिबंधित कर रखा है।

पाकिस्‍तान में नमाज के दौरान सईद की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। स्टेडियम के अंदर और बाहर बड़ी तादाद में सुरक्षाकर्मी तैनात थे। हालांकि, सईद के इर्दगिर्द उसके निजी सुरक्षाकर्मियों की भी घेराबंदी थी। बता दें कि सईद के आंतकी संगठन जमात-उद-दावा पर पाकिस्तान ने प्रतिबंध लगा रखा है। हालांकि उसे सार्वजनिक रैलियां करने की इजाजत दी गई है।

जमात-उद-दावा का लश्कर-ए-तैयबा से गहरा रिश्ता है। भारत में मुंबई हमले के बाद यह आतंकी संगठन सुर्खियों में आया। इसके बाद जमात-उद-दावा अपने आंतकी वारदातों से विश्व पटल पर कुख्यात हो गया। अमेरिका ने जून 2014 में जमात-उद-दावा को विदेशी आतंकी संगठन करार दिया था।

गौरतलब है कि पाकिस्तान सरकार हाफिज को आतंकी मान चुकी है। सरकार ने उसका नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में भी शामिल किया है। इसके तहत वह पाक छोड़कर नहीं जा सकता। मुंबई हमलों के बाद साल 2008 में संयुक्त राष्ट्र ने भी हाफिज के नाम को आतंकियों की सूची में डाला था। अमेरिका ने भी हाफिज के सिर पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम रखा है।

मुंबई हमलों के बाद हाफिज को हाउस अरेस्ट भी किया गया था, लेकिन पाकिस्तानी कोर्ट ने उसे आजादी मिल गई थी। अंतरराष्ट्रीय दबाव के चलते इस साल 30 जनवरी से 22 नवंबर को एक बार फिर नजरबंद किया गया था। हालांकि, कोर्ट ने बाद में आदेश दिया कि अगले आदेशों तक हाफिज सईद की न तो गिरफ्तारी की जाए, न ही उसे घर में नजरबंद किया जाए।

Posted By: Arti Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप