मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

इस्लामाबाद, पीटीआइ। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अपने भारतीय समकक्ष एस जयशंकर को बधाई संदेश भेजकर नई जिम्मेदारी के लिए बधाई दी है। साथ ही सभी महत्वपूर्ण मसलों पर बातचीत की इच्छा जताई है और क्षेत्र में शांति बनाए रखने के प्रयासों के लिए प्रतिबद्धता जताई है। जयशंकर के विदेश मंत्री बनने के बाद पाकिस्तान की ओर से वार्ता शुरू करने की दिशा में यह पहला औपचारिक प्रयास है।

फरवरी में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद दोनों देश युद्ध के कगार पर पहुंच गए थे। 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के विमानों ने पाकिस्तान में घुसकर बालाकोट स्थित आतंकी शिविर पर हमला किया था और सैकड़ों आतंकी मार गिराए थे। अगले दिन पाकिस्तान ने भी जम्मू-कश्मीर में जवाबी हमला करने की कोशिश की लेकिन भारतीय वायुसेना के सतर्क होने की वजह से उसके विमानों को वापस भागना पड़ा था।

इस तनाव को खत्म करने और साथ काम करने की इच्छा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी 26 मई को जताई थी। उन्होंने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन कर चुनाव में जीत की बधाई दी थी। मोदी ने जवाब में हिंसा और आतंकवाद को खत्म कर भरोसा कायम करने की बात कही थी। इस सिलसिले में औपचारिक रूप से पत्र कुरैशी ने लिखा है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप