कराची,जागरण डेस्क। पाकिस्तान में एक बार फिर एक हिंदू लड़की के साथ बर्बर्ता कर उसे मौत के घाट उतार दिया गया। पाकिस्तान में सिंधी हिंदू लड़की नम्रता चंदानी की लाश उसके ही हॉस्टल में संदिग्ध हालत में मिली थी। वह मेडिकल की छात्रा थी। उसके गले में रस्सी बंधी हुई थी। करांची में छात्रा की हत्या के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। जिसका वीडियो पाकिस्तान मूल के लेखक और जाने-माने बलोच नेता तारेक फतह ने शेयर किया है। 

वीडियो में आप देख सकते हैं कि हजारों लोग एक साथ इकट्ठा होकर वी वांट जस्टिस (we want justice) के नारे लगा रहे हैं। लोगों के हाथों में पोस्टर भी है जिसपर ये नारा लिखा हुआ है। इस वीडियो पर कमेंट करते हुए लोगों ने पाकिस्तान को जमकर फटकार लगाई। 

एक यूजर ने लिखा कि पाकिस्तान में हिंदूओं को नरसंहार जारी है।   

वहीं एक यूजर लिखती हैं कि सारे हिंदू और सिख लोगों को पाकिस्तान छोड़कर भारत आ जाना चाहिए। वह सभी लोग यहां सुरक्षित रहेंगे।  

एक यूजर ने लिखा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक  सुरक्षित नहीं हैं। देखिए कैसे हिंदुओं की आबादी 14% से घटकर सिर्फ 1% या उससे कम रह गई है। ये अच्छा संकेत नहीं। इस तरह के बहुत सारे उदाहरण आसपास हो रहे हैं लेकिन कौन परवाह करता है।

एक ट्विटर यूजर ने सुदेश दफ्तारी ने लिखा कि इमरान खान को इसपर जवाब देना चाहिए। आखिर वह कर क्या रहे हैं?

यहां जानें पूरा मामला 

नम्रता चंदानी पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में एक मेडिकल कॉलेज की छात्रा थी। खबरों की मानें तो विश्वविद्यालय प्रशासन ने अंदेशा जताया है कि हो सकता है कि छात्रा ने खुदकुशी की हो लेकिन उसके परिजनों ने उसकी हत्या का आरोप लगाया है। बता दें कि नम्रता शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की बीडीएस की अंतिम वर्ष की छात्रा थी। नम्रता की हत्या के विरोध में लोग प्रदर्शन कर रहे हैं और उनकी मांग है कि जल्द से जल्द नम्रता को इंसाफ दिया जाए। 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप