कराची, एएफपी। पाकिस्तान के कराची में बुधवार को प्रदर्शन किया जा रहा है। दरअसल, भारत ने 2019 में 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 (Article 370) को खत्म कर दिया गया था जिसे पाकिस्तान यौम-ए-इस्तेहसाल  (Yaum-i-Istehsal) यानि शोषण के दिन के तौर पर  मना रहा है। 5 अगस्त, 2019 को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए को समाप्त कर दिया था और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया था।  

डॉन के अनुसार, भारत सरकार द्वारा कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटाए जाने के  विरोध में आयोजित रैली में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने नई दिल्ली की निंदा की और कहा, ' भारत ने इजरायल से डेमोग्राफी में बदलाव करना सीखा है।' रैली में प्रतिभागियों ने एक मिनट के लिए मौन भी रखा।

जम्मू -कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35 ए समाप्त किए जाने के एक साल पूरे होने पर पाकिस्तान ने पहले ही 'यौम-ए-इस्तेहसाल' यानी शोषण दिवस के रूप में मनाने का ऐलान कर दिया था। साथ ही आज के  दिन पाकिस्तान में भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाने का फैसला लिया गया था। 5 अगस्त, 2019 को भारत सरकार ने जम्मू एवं कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए को समाप्त कर दिया था और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया था।

पाकिस्तान सरकार कश्मीरी लोगों के साथ एकजुटता दिखाते हुए राजधानी इस्लामाबाद में अपने मुख्य कश्मीर हाईवे का नाम श्रीनगर हाईवे भी करने जा रही है। प्रधानमंत्री इमरान खान पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद जाएंगे, जहां वह विधानसभा को संबोधित करेंगे। पाकिस्तान के कई प्रमुख शहरों और पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में कश्मीर एकजुटता रैलियां निकाली जाएंगी। इस बड़े दिन से पहले पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने रक्षा मंत्री परवेज खट्टक और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद यूसुफ के साथ नियंत्रण रेखा का दौरा किया और कश्मीरी निवासियों के साथ समर्थन और एकजुटता प्रदर्शित किया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021