इस्‍लामाबाद, एजेंसी। पाकिस्‍तानी सेना ने देश के इतिहास में पहली महिला लेफ्टिनेंट जनरल की नियुक्ति की है। सेना में महिला का शीर्ष पद देकर पाकस्तिान सेना एक इतिहास बनाया है। पाकिस्‍तान सेना में ऐसा पहली बार हुआ है, जब किसी महिला को प्रमुख पद पर बैठाया गया है। सेना के मीडिया विंग के एक बयान में कहा गया है कि सेना के मेडिकल कोर के साथ संबद्ध मेजर जनरल निगार जौहर को लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में पदोन्नत किया गया है।इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के बयान ने मंगलवार को कहा कि लेफ्टिनेंट जनरल बनने के बाद, जौहर को पहली महिला सर्जन जनरल के रूप में नियुक्त किया गया है।  

जौहर एक डॉक्टर होने के साथ-साथ निशानेबाज भी हैं। जौहर फिलहाल पाकिस्तान सेना के मेडिकल कोर में तैनात हैं। वह दक्षिण एशिया के सबसे बड़े रावलपिंडी स्थित आर्मी अस्पताल की कमान संभाल रही हैं। वह 2017 में मेजर जनरल के पद तक पहुंचने वाली पाकिस्तान के इतिहास में तीसरी महिला अधिकारी बनी थीं। लेफ्टिनेंट जनरल जौहर मेजर (आर) मोहम्मद आमिर की भतीजी हैं, जो पाकिस्तान के पूर्व सेना अधिकारी हैं। मोहम्मद आमिर ने आईएसआई में सेवा की थी। उसके पिता कर्नल कादिर ने भी आईएसआई में सेवा की थी। 

जौहर 1978 में रावलपिंडी के कॉन्वेंट गर्ल्स हाई स्कूल में अपनी हाई स्कूल की शिक्षा पूरी की। 1985 में आर्मी मेडिकल कॉलेज में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने उसी कॉलेज में आयशा कंपनी की महिला कंपनी कमांडर के रूप में भी काम किया। उन्होंने कॉलेज ऑफ फिजिशियन और सर्जन पाकिस्तान की सदस्यता के लिए 2010 में परीक्षा पूरी की। 2012 में, उन्होंने सशस्त्र बल पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल इंस्टीट्यूट और 2015 में एडवांस मेडिकल एडमिनिस्ट्रेशन में अपना डिप्लोमा पूरा किया। उन्होंने उसी संस्थान से मास्टर ऑफ पब्लिक हेल्थ की डिग्री भी प्राप्त की।

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस