कराची (पाकिस्तान) एएनआइ। कराची के रक्षा क्षेत्र से संदिग्ध परिस्थितियों में पिछले सप्ताह एक  स्टूडेंट का अज्ञात पुरुषों द्वारा अपहरण कर लिया गया था। अब वह 20 वर्षीय लॉ स्टूडेंट जिसका नाम दुआ मांगी है, वह शनिवार को दक्षिण क्षेत्र के डीआईजी शारजील खरल के कार्यालय से घर लौट आई है। इसकी पुष्टी दक्षिण क्षेत्र के डीआईजी शारजील खरल के कार्यालय द्वारा वापस लौटने की पुष्टि की है। हालांकि, बयान में आगे कहा गया है कि मामले में जांच जारी है और जल्द ही आगे की जानकारी दी जाएगी।                              

30 नवंबर को हुआ था अपहरण

30 नवंबर को मांगी (जो प्रसिद्ध सिंधी भाषा के कवि और स्तंभकार, ऐजाज मांगी की भतीजी है) को हथियारबंद लोगों ने रक्षा आवास प्राधिकरण (डीएचए) के एक रेस्तरां के पास से अगवा कर लिया था। पाकिस्तानी मीडिया संस्थान डॉन ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने उसके दोस्त हारिस फतह को भी गोली मार दी और घायल कर दिया। फतह को गर्दन के पास गोली लगी और उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।                                   

फिरौती के लिए अपहरण का मामला

हालांकि, इससे पहले गुरुवार को डीआईजी खरल ने कहा था कि यह फिरौती के लिए अपहरण का मामला प्रतीत हो रहा है। हालांकि, लड़की के परिवार ने फिरौती मांगने की अफवाहों का खंडन किया था और अपहृत लड़की को बरामद करने में विफलता के लिए सिंध पुलिस और प्रांतीय सरकार की आलोचना की थी।                        

अपहरण के बाद, कराची में लोगों ने सड़कों पर उतरकर पुलिस के खिलाफ शहर के गोल चक्कर पर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि, पुलिस ने घटना के लिए कम से कम चार अज्ञात व्यक्तियों के नाम पर प्राथमिकी दर्ज की थी। कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने कहा था कि दुआ का अपहरण करने वाले लोगों ने जिस कार का इस्तेमाल किया था जो पहले शहर के PECHS क्षेत्र से चोरी हुई थी।

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस