इस्लामाबाद, प्रेट्र। करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्‍तान की मंशा ठीक नजर नहीं आ रही है। अपनी पूर्व की घोषणा से पीछे हटते हुए पाकिस्तान ने कहा है कि बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के लिए अभी कोई तिथि तय नहीं की गई है। हालांकि, उसने यह आश्वासन दिया है कि सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर इसे अगले महीने 'समय पर' शुरू कर दिया जाएगा।

पाकिस्‍तान की थी ये घोषणा

गौरतलब है कि एक महीने पहले कॉरिडोर परियोजना के प्रमुख एक वरिष्ठ अधिकारी ने करतारपुर साहिब के लिए नवंबर से भारतीय सिख श्रद्धालुओं को जाने की अनुमति दिए जाने की घोषणा की थी। विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने गुरुवार को साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'प्रधानमंत्री (इमरान खान) के वादे के मुताबिक, करतारपुर कॉरिडोर पर काम समय पर पूरा हो जाएगा। इसका उद्घाटन समय पर होगा, लेकिन इसके शुरू होने के लिए मैं कोई तिथि नहीं दे सकता, क्योंकि अभी तक इसकी तिथि तय नहीं की गई है।'

भारतीय श्रद्धालु कर सकेंगे वीजा मुक्त यात्रा

फैसल ने आश्वासन दिया कि कॉरिडोर को सिखों के संस्थापक गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर 12 नवंबर को खोल दिया जाएगा। प्रस्तावित कॉरिडोर करतारपुर में दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक के साथ जोड़ेगा और भारतीय श्रद्धालु वीजा मुक्त यात्रा कर सकेंगे। उन्हें करतारपुर साहिब जाने के लिए केवल परमिट हासिल करना होगा।

गुरु नानक देव ने की थी करतारपुर साहिब की स्थापना

करतारपुर साहिब की स्थापना 1522 में गुरु नानक देव ने की थी। लाहौर से करीब 125 किलोमीटर दूर नारोवाल में प्रस्तावित करतारपुर कॉरिडोर की 16 सितंबर को पाकिस्तानी और विदेशी पत्रकारों की यात्रा में परियोजना निदेशक आतिफ माजिद ने कहा कि कॉरिडोर का 86 फीसद काम पूरा हो गया है और नौ नवंबर को इसे श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: करतारपुर कॉरिडोर उद्घाटन समारोह के लिए पाकिस्तान नहीं जाएंगे पूर्व पीएम और पंजाब सीएम

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप