जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। कश्मीर से धारा 370 हटाने के भारत के फैसले से तिलमिलाया पाकिस्तान कूटनीति के बेहद आधारभूत वसूलों को भी मानने को तैयार नहीं है। हर मोर्चे पर भारत से मात खा चुके पाकिस्तान ने भारत सरकार के उस अनुरोध को ठुकरा दिया है जिसमें पीएम नरेंद्र मोदी के विमान को उसके हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल की अनुमति मांगी गई थी।

पीएम मोदी 21 सितंबर, 2019 को अमेरिका जाने वाले हैं और इसके लिए पाकिस्तान सरकार से आग्रह किया गया था कि वह अपने हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल की अनुमति दे, लेकिन पाकिस्तान ने इसकी इजाजत नहीं दी। इसके पहले पाकिस्तान ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विमान को भी अपने हवाई क्षेत्र से उड़ान भरने की इजाजत नहीं दी थी।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मेहमूद कुरैशी ने बताया कि भारत ने मोदी के विमान के लिए 21 सितंबर को जाने के लिए और 28 सितंबर को वापसी की अनुमति मांगी थी। पाकिस्तान ने इसकी अनुमति नहीं दी है और इस बारे में इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायोग को भी सूचना दे दी गई है। कुरैशी ने कहा कि कश्मीर की मौजूदा स्थिति और भारत के रवैये के मद्देनजर हमने उड़ान के लिए अपने हवाई क्षेत्र की अनुमति नहीं देने का फैसला किया है।

पाक की हरकत पर भारत ने जताया विरोध

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विमान को अपना एयरस्पेस नहीं देने की इजाजत पर भारत ने विरोध जताया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान सरकार ने एक सप्ताह में दूसरी बार VVIP विमान को रास्ता देने से इनकार किया है। पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय कायदों का पालन करना चाहिए और अपने ऐसे एकपक्षीय फैसले लेने की पुरानी आदत से बाज आना चाहिए।

भारत आइसीएओ में कर सकता है शिकायत

पहले राष्ट्रपति और अब पीएम के विशेष विमान को इजाजत नहीं मिलने के मुद्दे पर भारत अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आइसीएओ) में पाकिस्तान के खिलाफ शिकायत कर सकता है। आइसीएओ के समझौते के मुताबिक सिर्फ युद्ध काल में ही किसी दूसरे देश के विमान को अपने हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल से रोका जा सकता है। जो देश इस नियम का पालन नहीं करते हैं उनके खिलाफ जुर्माना लगाने का भी प्रावधान है।

22 सितंबर को अमेरिका में 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 सितंबर को 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में भाग लेने के लिए 21 सितंबर को अमेरिका की यात्रा पर जाने वाले हैं। इस दौरान वहां लगभग 50,000 लोगों की मौजूदगी होगी है। इस कार्यक्रम में अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के अलावां 60 अमेरिकी सांसद भी शिरकत करेंगे। प्रधांमनंत्री 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे।

कश्मीर पर मात से बैखलाहट

दरअसल, धारा 370 हटाने के बाद भी कुछ भारतीय विमानों को पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल की अनुमति दी गई थी, लेकिन इसको लेकर वहां के विपक्षी दलों ने पीएम इमरान खान पर खूब निशाना साधा था। हो सकता है कि राजनीतिक विरोध से बचने के लिए ही इमरान खान की सरकार ने अब भारत के पीएम व राष्ट्रपति के विमानों को भी उड़ान भरने की इजाजत नहीं देने का फैसला किया हो।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप