इस्लामाबाद, एएनआइ। मानव विकास सूचकांक (Human Development Index) 2019 में 189 अन्य देशों के बीच पाकिस्तान को 152 वें स्थान पर रखा गया है, जो दक्षिण एशिया के अन्य सभी क्षेत्रीय देशों की तुलना में सबसे कम है। पाकिस्तान की रैंकिंग बांग्लादेश और भारत सहित दक्षिण एशिया के HDI के औसत से 13 प्रतिशत कम है।

धीमी हुई पाकिस्तान की प्रगति

समाचार इंटरनेशनल ने बताया कि एचडीआर 2019 में कहा गया है कि पाकिस्तान ने 2000 से 2015 तक प्रगति की, लेकिन बाद में इसकी प्रगति धीमी हो गई। एचडीआर को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) द्वारा शुरू किया गया था।

2017 में 151वें स्थान पर था पाकिस्तान

2017 के, एचडीआई में पाकिस्तान 151 वें स्थान पर रहा। एचडीआई में 2000 से 2015 तक 25 प्रतिशत की सुधार के साथ औसत वार्षिक वृद्धि 1.2 प्रतिशत रही लेकिन, उसके बाद से पाकिस्तान की प्रगति धीमी हो गई। शिक्षा और आय संकेतकों में सुधार के बावजूद, देश का HDI दक्षिण एशियाई क्षेत्र की तुलनीय अर्थव्यवस्थाओं से कम था, क्योंकि यह दक्षिण एशिया के HDI के औसत से 13 प्रतिशत और मध्यम मानव विकास श्रेणी के HDI के औसत से 12 प्रतिशत कम था। दक्षिण एशिया और अन्य मध्यम HDI देशों के औसत की तुलना में देश में स्वास्थ्य और शिक्षा के आयाम में असमानता का प्रतिशत अधिक था।

इस बीच, जेंडर डेवलपमेंट इंडेक्स (GDI) के आधार पर, HDR 2019 में कहा गया है कि पाकिस्तान का 2018 महिला HDI मूल्य का अनुपात 0.464 और पुरुष HDI का मूल्य 0.622 है, जिसका परिणाम GDOI 0.747 है। तब एचडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, श्रीलंका 130 वें स्थान पर था, 134 वें पर भूटान, भारत 129 वें स्थान पर,  बांग्लादेश 135वें, नेपाल 147वें, पाकिस्तान 152वें और अफगानिस्तान दक्षिण एशिया में 170वें स्थान पर था।

ये भी पढ़ें: FATF Plenary Session: आज पेरिस में एफएटीएफ की बैठक, आतंकी फंडिंग को लेकर PAK का निगरानी सूची में बना रहना तय

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस