इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मलेशिया की दो दिन की यात्रा पर सोमवार को कुआलालंपुर पहुंच गए। वह प्रधानमंत्री महातिर मुहम्मद के आमंत्रण पर मलेशिया पहुंचे हैं। यहां पर दोनों नेता द्विपक्षीय मसलों के अतिरिक्त जम्मू-कश्मीर पर भी चर्चा करेंगे और उस पर बयान जारी कर सकते हैं। यह जानकारी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के कार्यालय ने दी है।

इमरान और महातिर संयुक्त राष्ट्र के मंच से भी जम्मू-कश्मीर का मसला उठा चुके हैं

इमरान और महातिर संयुक्त राष्ट्र के मंच से भी जम्मू-कश्मीर का मसला उठा चुके हैं जिस पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी।

कुआलालंपुर जाते समय भारतीय वायुसीमा से किया परहेज

इससे पहले भारत के प्रति अपनी कड़वाहट को बरकरार रखते हुए इमरान भारतीय वायुसीमा में प्रवेश हुए बगैर विमान से कुआलालंपुर पहुंचे।

कुआलालंपुर में हुए इस्लामिक सम्मेलन में नहीं पहुंचे थे इमरान

इमरान का यह दौरा दिसंबर में कुआलालंपुर में हुए इस्लामिक सम्मेलन के बाद हो रहा है जिसमें वह घोषणा करने के बावजूद नहीं गए थे। उस सम्मेलन में ईरान, तुर्की, कतर समेत करीब 20 देशों ने हिस्सा लिया था। सऊदी अरब के दबाव में इमरान ने दिसंबर का अपना कुआलालंपुर दौरा रद किया था।

सऊदी अरब पाकिस्तान को आर्थिक सहायता देने वाला प्रमुख देश

कुआलालंपुर के सम्मेलन को सऊदी अरब ने अपने प्रभाव वाले 57 देशों वाले इस्लामिक सहयोग संगठन को चुनौती देने का प्रयास माना था। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब पाकिस्तान को आर्थिक सहायता देने वाला प्रमुख देश है।

इमरान के दौरे में पाकिस्तान और मलेशिया के संबंध और मजबूत होंगे

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया है कि इमरान के दौरे में पाकिस्तान और मलेशिया के संबंध और मजबूत बनाए जाएंगे। दोनों देशों के सहयोग का स्तर बढ़ाया जाएगा। प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान का मलेशिया का यह दूसरा दौरा है।

370 हटने से भारत-पाक में और बढ़ा तनाव

पिछले साल 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और इसे दो भाग (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) में बांटने का फैसला लिया था। इसने दोनों देशों के बीच तनाव को और बढ़ा दिया। पाकिस्तान इस फैसले से इतना बौखलाया कि उसने भारत के साथ राजनायिक संबंध को कम कर दिया था।

पाक ने भारत के राष्ट्रपति ओर प्रधानमंत्री को नहीं दी थी अनुमति

बता दें कि इसके बाद से पाकिस्तान ने कई अवसरों पर, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भारतीय नेताओं को विदेश यात्रा के दौरान अपने हवाई क्षेत्र का उपयोग करने की अनुमति नहीं दी।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस