लाहौर (एएफपी)। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। लाहौर से 275 किलोमीटर दूर टोबा टेक सिंह कस्बे में पुलिस ने 10 ऐसे लोगों को गिरफ्तार किया है जिन्होंने दुष्कर्म पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए आरोपी की बहन का पीड़िता के भाई द्वारा दुष्कर्म करवाया था।

घटना 20 मार्च की है। एक स्थानीय पुलिस अधिकारी नईम युसुफ ने एएफपी से बात करते हुए बताया, 'वसीम नाम के युवक ने 16 वर्षीय लड़की के साथ बलात्कार किया था, जिसके बाद आस-पास के लोग एकत्र हो गए और सभी ने मिलकर आरोपी को जान से मारने की मांग की। इसके बाद आरोपी के परिवार ने वसीम को मारने के बजाए पीड़ित लड़की के परिजनों के समक्ष विकल्प रखा कि वे उनके परिवार में से किसी भी महिला के साथ बलात्कार कर सकते हैं।'

पीड़िता के परिवार ने आरोपी के परिवार से 40 वर्षीय महिला को चुना, जिसके साथ 16 वर्षीय रेप पीड़िता के भाई ने दुष्कर्म किया। पुलिस अधिकारी नईम के अनुसार, इस अपराध के बाद दोनों परिवारों ने आपस में लिखित समझौता करते हुए कहा कि वे अब इस घटना को हमेशा-हमेशा के लिए भूल जाएंगे और भविष्य में कोई दुश्मनी नहीं रखेंगे। स्थानीय पुलिस स्टेशन के मुखिया अब्दुल मजीद ने बताया कि उनके स्टॉफ में से किसी को इस लिखित समझौते के बारे में पता चल गया और उसके बाद उन दोनों परिवारों के 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया जिन्होंने दुष्कर्म के लिखित समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

आपको बता दें कि पाकिस्तान में अक्सर 'रेप का बदला रेप' जैसी घटनाएं होते रहती हैं और दशकों से महिलाएं अपने हक के लिए संघर्षरत हैं। ऐसे इलाकों में पुरूष अक्सर खर्चीली न्यायायिक व्यवस्था को चुनने के बजाय इस तरह के घिनौने विकल्पों का चुनाव करते हैं। पाकिस्तान में न्यायिक व्यवस्था के समानांतर गांवों ने पंचायतों ने इस तरह की व्यवस्था बना रखी है। इस तरह की व्यवस्थाओं में अधिकतर श्रमिक वर्ग के लोग शामिल रहते हैं। 

Posted By: Kishor Joshi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस