इस्लामाबाद, रायटर। पाकिस्तान में पेट्रोल पंप मालिकों ने गुरुवार से देशव्यापी हड़ताल शुरू कर दी। वे मुनाफा कम करने का विरोध कर रहे हैं। सरकार ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के साथ समझौते के तहत करों में वृद्धि और राजस्व बढ़ाने के लिए पेट्रो पदार्थो पर मुनाफा कम कर दिया है। एएनआइ के मुताबिक, हड़ताल को देखते हुए देशभर के बड़े शहरों में बुधवार को सड़क जाम की स्थिति पैदा हो गई। ईधन भरवाने के लिए वाहनों की पेट्रोल पंपों पर लंबी कतारें देखी गई।

पाकिस्तान पेट्रोलियम डीलर संघ के सूचना सचिव ख्वाजा आसिफ अहमद ने कहा, 'यह देशव्यापी हड़ताल है। यह पूरे पाकिस्तान में हो रही है और यह अनिश्चितकालीन है। जब तक हमारी मांगें पूरी नहीं होतीं तब तक हम अपने पंपों को नहीं खोलेंगे।' इधर, देश के तेल एवं गैस नियामक प्राधिकार (ओजीआरए) ने कहा कि वह हड़ताल के प्रभाव पर काबू पाने का प्रयास करेगा। किसी भी व्यावधान के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ओजीआरए ने कहा किसभी तेल कंपनियों को खुदरा दुकानों पर निर्बाध तेल आपूर्ति सुनिश्चित करने की सलाह दी गई है। इसे सुनिश्चित करने के लिए ओजीआरए प्रवर्तन दल मैदान में हैं। सार्वजनिक व्यवस्था में व्यावधान का कारण बनने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ सख्ती से ओजीआरए कानूनों तहत कार्रवाई की जाएगी। स्थानीय समयानुसार गुरुवार सुबह 6:00 बजे शुरू हुई हड़ताल से पहले लाहौर और कराची सहित मुख्य शहरों के पेट्रोल स्टेशनों पर कारों और मोटरबाइकों की भीड़ जमा हो गई।

पाकिस्तान के गैस स्टेशन संघ ने कहा है कि पिछले कुछ महीनों में मुनाफा कम हो गया है। सरकार ने पहले पेट्रोलियम पर कर बढ़ा दी थी। इस साल ईंधन की कीमतों में कई बार बढ़ोतरी हुई है। आइएमएफ की शर्त के तहत पाकिस्तान हर महीने पेट्रोल की कीमतों में लगभग 5 पाकिस्तानी रुपये जोड़ना जारी रखेगा, जब तक कि यह 30 पाकिस्तानी रुपये की बढ़ोतरी को छू नहीं लेता।

Edited By: Tanisk