इस्लामाबाद, प्रेट्र। अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत से होड़ लेते हुए पाकिस्तान के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने दावा किया है कि चीन की मदद से पाकिस्तान 2022 तक अंतरिक्ष में अपना यात्री भेज देगा। चौधरी ने इसके साथ ही कहा कि भारत और पाकिस्तान के आपसी सहयोग से विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में बेहतर काम किया जा सकता है।

चौधरी ने रविवार को एक इंटरव्यू में कहा, अंतरिक्ष यात्रियों के चयन का कार्य अगले साल शुरू कर दिया जाएगा। इसके लिए पहले 50 लोगों को चुना जाएगा। 2022 तक इनमें 25 लोग ही रह जाएंगे और अंत में एक को अंतरिक्ष में भेजा जाएगा। इस चयन में पाकिस्तान की वायुसेना बड़ी भूमिका निभाएगी। पाकिस्तान ने पिछले साल चीन की मदद से दो स्वदेशी उपग्रह पृथ्वी की कक्षा में स्थापित किए थे। इन्हें गोबी मरुस्थल स्थित चीन के जियुकुआन सेटेलाइट लांच सेंटर से चीनी रॉकेट एलएम-2सी से लांच किया गया था।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर से Article 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। जहां उसकी बौखलाहट चंद्रयान 2 पर भी देखने को मिली। मंत्री फवाद चौधरी ने चंद्रयान 2 का मजाक बनाया था। उन्होंने चंद्रयान 2 को खिलौना बताया था। यहां आपको ये भी बता दें कि चौधरी हमेशा से अपनी बयानो के लिए ट्रोल होते रहे है, जहां वे चंद्रयान-2 का मजाक बनाने के बाद भी हुए थे।

Chandrayaan-2 को बताया था खिलौना
पूरी दुनिया ने जहां भारत के महत्वाकांक्षी मून मिशन चंद्रयान-2 के लिए इसरो और भारतीय वैज्ञानिकों का लोहा माना, वहीं पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान यहां भी अपनी ओछी हरकत दिखाई थी। इसपर मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने बेहूदा टिप्पणी की थी। कहा था, जो काम आता नहीं पंगा नहीं लेते ना.... डियर 'एंडिया'। फवाद ने ट्वीट में व्यंग्य करते हुए इंडिया की जगह एंडिया लिखा।

उन्होंने एक भारतीय यूजर के ट्वीट पर बड़ी बेशर्मी से रिट्वीट किया। भारतीय यूजर अभय कश्यप के ट्वीट पर रिट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा, 'सो जा भाई मून की बजाय मुंबई में उतर गया खिलौना'। इसके बाद वे ट्रोल हुए, तो लिखा कि मुझे ऐसे ट्रोल किया जा रहा है, जैसे मैंने ही इस मिशन को फेल कर दिया हो।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप